सुसंस्कृति परिहार

जन्म: 27 अगस्त, स्थान: दमोह. माता: स्व. श्रीमती सुषमा रानी परिहार,  पिता: स्व. श्री मोहन सिंह परिहार. जीवन साथी: श्री नंदलाल सिंह. शिक्षा: एम.ए. (भूगोल, अर्थशास्त्र). व्यवसाय: शिक्षक (सेवानिवृत्त)/स्वतंत्र लेखन/ संस्थापक और अध्यक्ष-स्वप्निल साहित्यिक संस्था. करियर यात्रा: महारानी लक्ष्मीबाई हायर सेकण्डरी स्कूल से 11वीं तक की शिक्षा प्राप्त की.  स्नातक शासकीय वि.वि. सागर म.प्र. से किया.  1977 से 87 तक विभिन्न अखबारों में संवाददाता (दमोह) के रूप में कार्य किया. 1977 से 2009 तक रामकुमार उ.मा. शाला, दमोह में व्याख्याता (भूगोल) तथा 2015 तक प्राचार्य के रूप में सेवायें देते हुए सेवानिवृत. 2016-17 में इंदिरा गांधी जनजातीय वि.वि. में भी अध्यापन कार्य किया. दमोह जिले की चिट्ठी का कई वर्ष लेखन और इंदौर आकाशवाणी से प्रसारण. कविता, कहानी, संवाद  और आलेख पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित तथा आकाशवाणी भोपाल से प्रसारित. वर्तमान में लेखन कार्य में सक्रिय. बच्चों के अधिकारों के लिए सतत् प्रयत्नशील.  उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रगतिशील लेखन हेतु महिला लेखिका संघ मध्यप्रदेश द्वारा स्वर्गीय रामकुंवर स्मृति सम्मान (2011), साहित्यिक, सांस्कृतिक और शैक्षणिक क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान हेतु दमोह का विशिष्ट अलंकरण (2013)नेहरू युवा केंद्र के आयोजनों में सहभागिता और क्लीन दमोह और ग्रीन दमोह हेतु विशिष्ट सेवा सम्मान (2014), मध्यप्रदेश हिंदी साहित्य सम्मेलन के संभागीय साहित्यकार सम्मेलन में भवानी सिंह सम्मान से अलंकृत (2016), शैलार स्मृति न्यास द्वारा नगर में सामाजिक, साहित्यिक एवं शैक्षणिक जगत में अप्रतिम योगदान हेतु सम्मानित (2019), महिला वेलफेयर सोसाइटी द्वारा महिला दिवस पर मदर टेरेसा सम्मान से विभूषित (2018) सहित शिक्षण के लिए स्थानीय स्तर पर और साहित्य स्तर पर अनेक पुरस्कार और सम्मान प्राप्त. रुचियां: पर्यटन, अध्ययन, लेखन. अन्य जानकारी: 1977 से प्रगतिशील लेखक संघ की सदस्य,  1984 से 86 तक जिला जागरुक पत्रकार परिषद की अध्यक्ष, माध्यमिक शिक्षा संघ की प्रांतीय कार्यकारिणी की सदस्य रहीं. 2003 से 2017 तक दमोह प्रलेसं अध्यक्ष तथा वर्तमान में प्रदेश सचिव मंडल सदस्य. वर्तमान में भोपाल चाइल्ड राइट्स ऑब्जरबेटरी की सदस्य. पता: 130, सिंगपुर सीमेंट फैक्टरी रोड, दमोह -61.ई-मेल: susanskriti.parihar@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp