सुषमा ‘शांडिल्य

जन्म: 8 मार्च, स्थान: मुंबई. माता: श्रीमती सिंधु दीक्षित, पिता: श्री गोपाल दीक्षित. जीवन साथी: श्री सुनील तिवारी. संतान: पुत्र -01, पुत्री -01. शिक्षा: स्नातक. व्यवसाय: योग शिक्षिका, कवयित्री, लेखिका, समाज सेविका. करियर यात्रा: वर्ष नवम्बर 1981 से अप्रैल 1988 तक नैनी (इलाहाबाद) में सेंट पीटर्स कॉन्वेंट स्कूल में अध्यापन, वर्ष 1994 में 1998 तक यूनीसेफ के ग्रीटिंग कार्ड्स ऑपरेशन में स्वैच्छिक कार्यकर्ता के रूप में जुड़कर, गरीब महिलाओं और बच्चों के उत्थान के लिए काम किया. वर्ष 1999 में अमेरिकन कंपनी ‘E-scribe’ में मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन की प्रवेश परीक्षा में 90 सदस्यों के पहले बैच में चयन. अमेरिकन शिक्षिका ‘लेट्टा कोलबर्न’ द्वारा अमेरिकन इंग्लिश का प्रशिक्षण और डेढ़ वर्ष की कठिन मेडिकल ट्रेनिंग के उपरांत मेडिकल ट्रांसक्रिप्शनिस्ट के रूप में वर्ष 2002 तक काम किया। वर्ष 2012 में पूना स्थित इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स कंपनी ‘Elixir Innovative’ में मप्र की रीज़नल हेड के रूप में एक वर्ष काम किया। वर्ष 2009 से लेखन में व्यस्त. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रकाशन- प्रथम काव्य संग्रह ‘सूर्य-रश्मियों के नारंगी पात’ (2016), द्वितीय साझा काव्य संग्रह ‘ख़ामोश चीख़ों का हलफ़नामा’ (2019), स्त्री विमर्श केंद्रित एक उपन्यास शीघ्र प्रकाश्य. 4 मार्च 2022 को आयोजित ऑनलाइन प्रतियोगिता के फिनाले में 15 प्रतिभागियों में चयन, तथा द्वितीय स्थान प्राप्ति के फलस्वरूप, फिल्म ‘थ्री ईडियट्स की ओरिजिनल स्क्रिप्ट’ और बड़े फ़िल्मी लेखक की ‘हाइकू कविताओं’ की प्रतियां तथा अन्य पुरस्कार प्राप्त.  मई 2021 में ‘आउटलुक’ पत्रिका के लोकप्रिय स्तंभ ‘शहरनामा’ में अपने शहर ‘इलाहाबाद’ पर लिखा हुआ आलेख प्रकाशित, जिसे सराहना के साथ केंद्रीय मंत्री ‘मुख़्तार अब्बास नकवी’ ने अपने ऑफिशियल पृष्ठ पर पोस्ट किया. आउटलुक पत्रिका में महान स्व. विभूतियों (श्री लालबहादुर शास्त्री जी’, ‘शहीद भगत सिंह’, ‘रामधारी सिंह ‘दिनकर जी’, ‘शरदचंद्र’, ‘अमृता प्रीतम’, ‘इस्मत चुगताई’, ‘मीना कुमारी’, ‘हरिशंकर परसाई जी’, ‘अदम गोंडवी’, ‘राष्ट्रपति अब्दुल कलाम’, ‘सुदामा पांडे ‘धूमिल’, ‘बिरसा मुंडा’, ‘भिखारी ठाकुर’, ‘मोहम्मद रफ़ी’ की जयंतियों) पर तथा ‘आशा भोंसले’, ‘पंकज त्रिपाठी’, ‘आशुतोष राणा’ के जन्मदिवस पर कुल 19 आलेख प्रकाशित. प्रसिद्ध अभिनेता ‘पंकज त्रिपाठी’ पर केन्द्रित आउटलुक हिन्दी के 16 मई, 2022 के विशेषांक में, उनकी 12 चुनिंदा फिल्मों और वेब सीरीज़ पर लिखा समीक्षात्मक लेख, आवरण कथा के रूप में प्रकाशित. विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में कविताओं और लेखों का प्रकाशन. वर्ष 1984 में इलाहाबाद से अमिताभ बच्चन के चुनाव के दौरान जया बच्चन द्वारा आयोजित महिलाओं की सभा में शुरुआती भाषण दिया. वर्ष 2017 में ‘हाफ बेक्ड बीन्स’ (प्रकाशन-दिल्ली) और मुंबई की ‘देशी ड्रामेबाज’ संस्था द्वारा मुंबई में आयोजित कहानी सुनाओ प्रतियोगिता’ में चयनित देश भर से 17 प्रतिभागियों में से एक. इसका वीडियो ‘देशी ड्रामेबाज’ के यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध. कानपुर के लघु फिल्मों के निर्माता स्व. यशभान सिंह तोमर द्वारा द्वारा सुषमा जी की कविता ‘गंगा का आर्तनाद’ तथा नज़्म ‘और जब जागूं’ की रिकॉर्डिंग. दोनों रचनाएं ‘साहित्यधारा काव्यगंगा’ यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध. इलाहाबादी भाषा में स्वलिखित तथा निर्देशित नाटक ‘बिटोला बिटिया का बियाह’ 2 अप्रैल, 2015 को नागपुर के पास माजरी कोल माइंस क्लब के वार्षिकोत्सव में मंचित. रुचियां: अध्यात्म, सुगम संगीत, ग़ज़लें सुनना, पठन-पाठन, लेखन. अन्य जानकारी: एक महान विभूति के जीवन पर आधारित विशाल फीचर फिल्म तथा एक प्रसिद्ध शास्त्रीय गायिका के जीवन पर आधारित फिल्म हेतु पटकथा लेखन जारी. एक हास्य वेब सीरीज़ के लेखन के उपरांत निर्माण की योजना. वर्ष 2006 में पतंजलि योगपीठ के उद्घाटन समारोह में आमंत्रित. बाबा रामदेव से योग शिक्षा के प्रशिक्षण के पश्चात 5 नवम्बर 2006 को स्वाभिमान संगठन की भोपाल इकाई की अध्यक्ष नियुक्त. अध्यक्ष के रूप में इंडियन ऑयल, पुलिस विभाग, स्टेट बैंक तथा अन्य संस्थाओं के कर्मचारियों के स्वास्थ्य लाभ के लिए निःशुल्क शिविरों का आयोजन. लालघाटी स्थित केंद्रीय कारागार भोपाल में एक-एक हफ्ते के 4 शिविर आयोजित कर करीब 5 हज़ार  कैदियों को योग-प्राणायाम की शिक्षा दी. वर्ष 2007 (जून माह) में छतरपुर में 15 दिन का योग शिविर आयोजित किया जिसमें 2 सौ से अधिक शिविरार्थी लाभान्वित हुए. पता: 9, सिद्धार्थ गार्डन, बावड़िया कलां, ऑरा मॉल के पास, भोपाल -39. ई-मेल: sushma.srknp@gmail.com

 

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp