साक्षी भारद्वाज

जन्म: 12 नवम्बर, स्थान: जबलपुर. माता: श्रीमती ममता भारद्वाज, पिता: प्रो. रामदेव भारद्वाज. शिक्षा: बीएससी -जीव विज्ञान (श्री सत्य साईं कॉलेज, भोपाल), एमएससी –माइक्रोबायोलॉजी (बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी, भोपाल), पीएचडी- माइक्रोबायोलॉजी (अध्ययनरत). व्यवसाय: असिस्टेंट प्रोफेसर. करियर यात्रा: वर्ष 2019 से 2020 तक सहायक प्राध्यापक- कृषि,  (रविन्द्रनाथ टैगोर विवि., भोपाल), वर्ष 2020 से वर्तमान में बतौर सहायक प्राध्यापक- कृषि, मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी, भोपाल में कार्यरत. वर्ष 2018 में जंगलवास नाम से लघु वन बनाने की प्रक्रिया प्रारम्भ. उपलब्धियां/पुरस्कार: ओएमजी बुक ऑफ नेशनल रिकार्ड्स में जंगलवास ‘मिनी जंगल’ के नाम से दर्ज. जंगलवास Ted Circle Leader  के तौर पर TedX के मंच पर शामिल हो चुका है. दुनिया भर के मीडिया संस्थानों तथा मप्र के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सहित अनेक राजनेताओं ने जंगलवास देखा और सराहा है. छात्र राजनीति में सक्रिय रहते हुए बरकतउल्ला विवि. छात्र संघ चुनाव में सचिव के रूप में चुनाव जीता. रुचियां: बागवानी, अध्यापन करकिताबें पढ़ना, वाहन चलाना, नई-नई जगह की खोज करना. अन्य जानकारी: जंगलवास टिकाऊ शहरी जंगल की अवधारणा है, जिसके तहत शहर के बीचों-बीच कम जगह (800 वर्ग फीट) और कम समय में जंगल बनाया गया है. इसमें 450 किस्म के 4000 पेड़-पौधे हैं, जिनमें से 150 किस्में ऐसी हैं जो विलुप्त होने की कगार पर हैं. अमेजन के जंगल, पश्चिम बंगाल, नागालैंड, थाईलैंड, इंडोनेशिया आदि स्थानों के पौधे इस जंगलवास में शामिल हैं. इन पौधों को महंगे गमलों में नहीं, बल्कि घरेलू कचरे में लगाया गया है. इस स्थान पर ऑक्सीजन यूएसपी काफी अधिक है और यहाँ की आबोहवा काफी शुद्ध है. जंगलवास में केंचुए की खाद, किचन वेस्ट कंपोस्ट, बायो एंजाइम का निर्माण होता हैं. जंगलवास का खुद का इकोसिस्टम बना हुआ है, जहां 7-8 किस्म की तितलियां, तरह-तरह के पक्षी, गिलहरी और गिरगिट आदि देखने को मिलते हैं. जंगलवास का उद्देश्य एक बेहतर हरा-भरा माहौल तैयार करना है, जहां हर कोई खुल कर सांस ले सके. पता: 3/201, दानिश हिल्स व्यू, कोलार रोड, भोपाल -16. ई-मेल: vasejungle@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp