Now Reading
गरीब, बेबस महिलाओं की मसीहा शीतल और विमला दिल्ली में सम्मानित

गरीब, बेबस महिलाओं की मसीहा शीतल और विमला दिल्ली में सम्मानित

छाया: लाइव हिंदुस्तान डॉट कॉम

न्यूज़ एंड व्यूज़ 

न्यूज़

गरीब, बेबस महिलाओं की मसीहा शीतल और विमला दिल्ली में सम्मानित                                                                  

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर दिल्ली सरकार ने उन महिलाओं का सम्मान किया जिन्होंने समाज के उत्थान और गौरव बढ़ाने का काम किया है। इनमें  मध्यप्रदेश की भी दो महिलाएं – शीतल बैरवा और विमला आदिवासी शामिल थीं।  ये दोनों योजना आयोग द्वारा संचालित लोक अधिकार केंद्र श्योपुर की समता सखी हैं और अलग-अलग स्व-सहायता समूहों से जुड़ी हैं। इन समूहों  द्वारा गरीब, बेबस महिलाओं के उत्थान एवं जागरुकता के लिए कई काम किए जाते हैं।

गरीब, निराश्रितों के लिए बनी मसीहा

विमला आदिवासी द्वारा करीब 4 सौ लोगों की समस्याओं का निराकरण कराया गया है।. इसी तरह से शीतल बैरवा ने साढ़े 3 सौ लोगों की समस्याएं सुलझाई हैं। इनमें मुख्य रूप से घरेलू हिंसा, रोज़गार, विधवा, वृद्धा और विकलांग पेंशन योजना का लाभ दिलाने, कुपोषण से लड़ने के लिए सहायता राशि दिलाने के प्रकरण तैयार करने, गरीबों की जमीन दबंगों के चंगुल से मुक्त करवाने में अहम भूमिका अदा की है। महिला एवं बाल विकास विभाग से लेकर राजस्व, शिक्षा, स्वास्थ्य, मनरेगा, सामाजिक न्याय, बिजली कंपनी सहित तमाम विभागों से जुड़ी समस्याओं से जुड़े मुद्दे शामिल हैं। विमला का कहना है कि, वह महिलाओं से जुड़े अलग-अलग मुद्दों और समस्याओं का निराकरण करवाने का काम करती हैं। इसके साथ वह अपनी खेती और घर-गृहस्थी का काम भी देखती हैं. उन्हें लोगों की तकलीफ दूर करने में खुशी मिलती है।

एक साल में 7 सौ से ज्यादा लोगों की समस्या का निराकरण

6 अक्टूबर 2020 को आदिवासी बहुल क्षेत्र में लोक अधिकार केंद्र की स्थापना की गई थी। यह प्रयोग देश में सबसे पहले श्योपुर जिले में किया गया था. इस केंद्र पर सप्ताह के प्रत्येक मंगलवार और शुक्रवार को लोगों की समस्याएं सुनी जाती हैं। यहां मुख्य रूप से महिलाओं के हक और अन्य मुद्दों को पहले ग्राम संगठन स्तर पर सुलझाने का प्रयास किया जाता है। जिन प्रकरणों का हल नहीं हो पाता है उन्हें संकुल स्तर पर लाया जाता है, जहां दो महिलाएं दस्तावेज तैयार कर उन्हें संबंधित विभाग तक पहुंचाकर समस्या का समाधान करवाती हैं।

 

सन्दर्भ स्रोत : ईटीवी भारत डॉट कॉम 

और पढ़ें

न्यूज़ एंड व्यूज़

 

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Website Designed by Vision Information Technology M-989353242

Scroll To Top