शिल्पी जैन ‘सूर्या’

जन्म: 17 जुलाई, स्थान: जतारा (म.प्र.). माता: श्रीमती विजयलक्ष्मी सिंघई, पिता: श्री सुभाष सिंघई. जीवन साथी: श्री नितिन जैन. संतान: पुत्र -01, पुत्री -02. शिक्षा: एम.ए., डी.सी.ए. व्यवसाय: सूर्या डेस्टीनेशन आल इंडिया बेंडिग एंड ईवेंट प्लानर. करियर यात्रा: शासकीय स्नातकोत्तर कॉलेज टैगोर भवन टीकमगढ़ (म.प्र.) से राजनीति शास्त्र विषय के साथ एम.ए. करने के बाद डी.सी.ए. किया. साहित्य के प्रति रूचि होने से लेखन कार्य जारी रहा. प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में कविताओं का प्रकाशन. 19 जून सन 2017 में पहली पुस्तक का विमोचन सीहो अंतर्राष्ट्रीय योग अध्यात्म महोत्सव के मंच से हुआ. फिर 19 दिसम्बर 2017 को दूसरी पुस्तक का विमोचन खजुराहो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल के मंच से हुआ. विगत 3 बर्षो में 5 पुस्तकों का विमोचन अंतर्राष्ट्रीय मंचों से हुआ. 19 दिसम्बर 2020 से स्वयं के व्यवसाय ‘सूर्या डेस्टीनेशन आल इंडिया बेंडिग एंड ईवेंट प्लानर’ की शुरुआत की. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में स्वरचित कविताओं का प्रकाशन एवं प्रमाण पत्र. कई अंतर्राष्ट्रीय मंचों से स्वयं की पुस्तको का विमोचन प्रकाशन- वर्ष 19 जून 2017 में ‘शिल्पी सूर्या’ नाम से पहला काव्य संग्रह प्रकाशित. ‘ग़ज़ल शिल्पी’ 19 दिसम्बर 2017, ‘मुक्तक शिल्पी’ 23 जुलाई 2018, ‘काव्य शिल्पी’ 17 दिसम्बर 2018 तथा ‘शब्द शिल्पी’ 15 मार्च 2019 को प्रकाशित, सभी पुस्तके किताब गंज प्रकाशन नई दिल्ली से प्रकाशित. साझा संग्रह –‘अंजुमन’, किताब मंच और ‘किताब मंथन’. रुचियां: साहित्य लेखन, कुशल व्यवसाय, कुकिंग, साहित्यिक पुस्तक पढ़ना. अन्य जानकारी: विधाएं – कविता, गीत, गजल, मुक्तक व छंद.  पता: 11/53, एकता निवास, माध्यमिक सरकारी स्कूल के पास, सेवाग्राम, खजुराहो -471606, छतरपुर, म.प्र. ई-मेल: shilpijainsurya@gmail.com. वेब: www.suryadestinationweddingplanner.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp