शिरीन भावसार

जन्म: 1 नवम्बर, स्थान: इंदौर. माता: श्रीमती प्रमिला देवी नवलखे, पिता: श्री ईश्वरलाल नवलखे. जीवन साथी: श्री सचिन भावसार. संतान: पुत्र -01. शिक्षा: स्नातकोत्तर वनस्पति विज्ञान (प्लांट पैथोलॉजी). व्यवसाय: स्वतंत्र लेखन तथा कला और शिल्प. करियर यात्रा:  पं. रविशंकर शुक्ल वि.वि., रायपुर (छग.) से सम्बद्ध विभिन्न महाविद्यालयों में अतिथि शिक्षक के साथ ही कोचिंग क्लासेस (स्नातक स्तर की) में अध्यापन कार्य किया. वर्तमान में कला और शिल्प (लोक कला से सम्बद्ध) तथा स्वतंत्र लेखन जारी. उपलब्धियां/पुरस्कार: अंतरा शब्द शक्ति सम्मान (2018), सीहोर साहित्य सम्मान (2021 अनुशंसा). प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं व समाचार पत्रों में (किस्सा कोताह, विश्वगाथा, अहा जिंदगी, अमर उजाला (रूपायन), लोकजंग (समाचार पत्र) भोपाल, विनय उजाला दैनिक इंदौर, पत्रिका इंदौर, नई दुनिया, दैनिक भास्कर (मधुरिमा) आदि) साथ ही युगप्रवर्तक, प्रतिलिपि, मातृभारती, अंतरा शब्दशक्ति.कॉम, हिन्दीनामा, हिन्दी कविताएं, हिन्दी रक्षक.कॉम, वेबदुनिया.कॉम, मातृभाषा.कॉम डिजिटल माध्यमों पर कविताएं, लघुकथाएं एवं आलेख लेखन. रुचियां: लेखन एवं पठन-पाठन. अन्य जानकारी: दृष्टि बाधित संस्था और विशेष बच्चों की संस्था से जुड़ाव एवं सहयोग, वामा साहित्य मंच, जनवादी लेखक संघ व मप्र हिन्दी साहित्य सम्मेलन से सम्बद्ध. पता: 76, राजाराम एवेन्यू, तुलसी नगर के पास, निपानिया रोड़, इंदौर -10. ई-मेल: shirinbhavsar@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp