वंदना पुणतांबेकर

जन्म: 5 सितम्बर, स्थान: ग्वालियर. माता: स्व. श्रीमती आशालता पंडित, पिता: स्व. मधुकर राव पंडित. जीवन साथी: श्री मोहन पुणतांबेकर. संतान: पुत्र -01, पुत्री -01. शिक्षा: स्नाकोत्तर, फैशन डिजाइनिंग, आई म्यूज (सितार). व्यवसाय: स्वतंत्र लेखन. करियर यात्रा: ग्वालियर के गजराराजा स्कूल से हाई स्कूल करने के बाद के.आर.जी कॉलेज से स्नाकोत्तर के डिग्री तथा खैरागढ़ यूनिवर्सिटी से सितार में आई म्यूज की शिक्षा प्राप्त की. इंदौर गुजराती कॉलेज से फ़ैशन डिजाइनिंग का डिप्लोमा कोर्स व न्यूरोथैरेपी का कोर्स किया. 2018 से लेखन में सतत सक्रिय, विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं व समाचार पत्रों (पत्रिका इंदौर समाचार, अक्षर विश्व, हिंदी भाषा.कॉम, ई-कल्पना, रचनाकार, साहित्य समीर दस्तक, हिन्दी प्रतिलिपि, स्टोरी मिरर, प्रदेश वार्ता, पवनपुत्र आदि) में कहानियां, लघुकथाएं एवं कविताओं का प्रकाशन. उपलब्धियां/पुरस्कार: भाषा सहोदरी दिल्ली द्वारा सम्मानित (2018), अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन  शुभ संकल्प द्वारा सम्मानित (2019), अग्निशिखा गौरव सम्मान (2019), विश्व हिन्दी लेखिका संघ द्वारा सम्मान (2019), भारतीय लघुकथा मंच द्वारा सम्मानित. विदेश यात्रा: सिंगापुर, मलेशिया, लंदन. रुचियां: सिंगिंग और सितार वादन. अन्य जानकारी: सदस्य,- इंदौर लेखिका संघ तथा स्तंभ लेखक मालवा प्रान्त. बाल साहित्य- ‘बाल आरोहण’ (25 कहानियों का संकलन) प्रकाशनाधीन. पता: 63, जल एनक्लेव, सिल्वर स्प्रिंग बायपास रोड, इंदौर- 20. मेल: vandanapuntambekar250@gmail.com. ब्लॉग: https://vandanavichar.blogspot.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp