रूपाली सक्सेना

जन्म: 30 मई. स्थान: भोपाल. माता: श्रीमती मंजू श्रीवास्तव, पिता: श्री अवधेश श्रीवास्तव. जीवन साथी: श्री अतुल सक्सेना. संतान: पुत्र -02. शिक्षा: एम.ए., एम.फिल. (समाजशास्त्र), पीजीडीसीए- बरकतउल्ला विवि भोपाल. व्यवसाय: संचालिका- रूपाली’ज़ फ़ैशन एरा/स्वतंत्र लेखन/ समाजसेवी. करियर यात्रा: नौकरी की शुरुआत एक शिक्षिका के रूप में की. बाद में अनेक निजी संस्थानों में कार्य किया. वर्ष 2011 में दोस्तों के साथ मिलकर एक एनजीओ ‘समावेश’ शुरु किया. NACO के प्रोजेक्ट के तहत नशे के आदी लोगों और उनके परिवार के लिए काउंसलिंग कार्य से जुडीं रहीं. वर्ष 2016 में स्वयं का व्यवसाय ‘रुपाली’ज़ फ़ैशन एरा’ प्रारम्भ किया साथ ही लेखन और समाज सेवा के क्षेत्र में संलग्न. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रकाशन: साझा संकलन- ‘काव्य उपवन’ और ‘सागर की लहरें’. विभिन्न प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं (गगनांचल आधुनिक साहित्य.  देवपुत्र, तूलिका, संगिनि, साहित्य समीर दस्तक, सृजन महोत्सव, पत्रिका, दैनिक भास्कर-मधुरिमा-सिटी भास्कर, इंदौर समाचार, नवभारत, नवदुनिया, सांध्य प्रकाश, नवाचार इत्यादि) में कविताएं, नाटक एवं कहानी प्रकाशित. रुचियां: कविता एवं लघुकथा लेखन. सम्मान- साहित्यिक योद्धा सम्मान (2021),  नारी शक्ति सम्मान (छ.ग. 2021), हिंदी सेवी सम्मान (2021) भोपाल (म.प्र), हिंदी सेवी सम्मान (छ.ग. 2021), कोरोना वारियर्स सम्मान (2020). अन्य जानकारी: विभिन्न नाटकों में वस्त्र सज्जा, मेडिकल काउंसलर का 5 साल का अनुभव,  विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं में परामर्श दाता के रूप में कार्यरत, सदस्य- म.प्र. महिला काव्य मंच (भोपाल इकाई), सचिव- शब्दाक्षर समूह (म.प्र), कार्यकारी सदस्य- महिला काव्य मंच. पता: जे- 136,  हर्षवर्धन नगर, भोपाल- 03. ई-मेल: rupalisaxena630@gmail.com

 

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp