बिंदु जुनेजा

जन्म: 21 फरवरी, स्थान: लखनऊ (उ.प्र.). माता: श्रीमती चन्द्रा जुनेजा, पिता: श्री बी.आर. जुनेजा. जीवन साथी: श्री अभय फगरे. संतान: पुत्र -01. शिक्षा: कला में स्नातक (दिल्ली वि.वि.), भरतनाट्यम और ओडिसी में विशारद. व्यवसाय: कलाकार-ओडिसी नृत्यांगना एवं शिक्षक/संस्थापकऊर्ध्वं (सेंटर फॉर क्लासिकल आर्ट्स).  करियर यात्रा: नृत्य के प्रति बचपन से ही नैसर्गिक रुझान रहा. सात वर्ष की आयु से भातखण्डे हिन्दुस्तानी संगीत महाविद्यालय से भरतनाट्यम की शिक्षा ली, तत्पश्चात दिल्ली के गंधर्व महाविद्यालय में माधवी मुदगल से ओडिसी नृत्य की शिक्षा प्राप्त की. आचार्य मार्गी विजय कुमार से कथकली नृत्य शैली के अभिनय पक्ष की बारीकियों को समझा. इन दिनों बिदुजी स्वयं के द्वारा स्थापित संस्था “ऊर्ध्वं” का संचालन कर रही हैं. उपलब्धियां/पुरस्कार: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत आगमन पर हुए विशेष सम्मान समारोह तथा भूटान नरेश के विवाह उपलक्ष्य में भारतीय दूतावास द्वारा आयोजित संगीत नृत्य सभा में इन्हें खासतौर पर अपनी कला प्रदर्शन के लिए आमंत्रित किया गया. बिन्दु भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आई.सी.सी.आर.) दिल्ली की मान्य कलाकार तथा दूरदर्शन की “ए” श्रेणी प्राप्त नृत्यांगना हैं. प्राचीन उडिय़ा कविताओं पर शोध कार्य के लिए जूनियर रिसर्च फेलोशिप प्राप्त. विदेश यात्रा: अमेरिका, यूरोप, ब्राजील, मैक्सिको, स्वीडन, हंगरी, विएना, जर्मनी, फ्रांस, हॉलैंड, स्पेन आदि देशों की सांस्कृतिक यात्राएं. रुचियां: स्वाध्याय. अन्य जानकारी: अनरेवलिंग द ट्रू नेचर ऑफ जगन्नाथ और नर्मदा परिक्रमा इनकी सबसे बहुचर्चित विषयगत प्रस्तुतियां हैं. बिन्दु म.प्र. को ओडीसी का संस्कार देने वाली संभवत: पहली और अकेली नायिका हैं. इन्होंने केरल के कथकली के रचनात्मक आयामों को ओडीसी में रूपांतरित करते हुए नृत्य का नया परिवेश तैयार किया है. पता: चंद्रिका67, चाणक्यपुरी, चूनाभट्टी, कोलार रोड,  भोपाल -16. ई-मेल: bindujuneja@gmail.com. वेब: www.urdhvam.co

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp