प्रीता पी. गडकरी

जन्म: 13 अप्रैल, स्थान: इंदौर. माता: श्रीमती परिणीता पारसे, पिता: स्व. श्री आर.एन. पारसे. जीवन साथी: प्रसाद गडकरी. संतान: पुत्र -01. शिक्षा: एमएफए (गवर्नमेंट फाइन आर्ट कॉलेज इंदौर). व्यवसाय: फ्रीलांस कंटेम्प्रेरी आर्टिस्ट/फाउंडर/क्यूरेटर- ‘आर्टमेट ग्रुप’. करियर यात्रा: शासकीय ललित कला संस्थान इंदौर से फाइन आर्ट में एम.एफ़.ए. करने के बाद इन्होंने अपना काम प्रारम्भ किया. शादी के बाद अपने कुछ साथी कलाकारों के साथ मिलकर 2013 में ‘आर्टमेट’ कला संस्था की स्थापना की. इस संस्था से आज देश-विदेश से करीब 6000 आर्टिस्ट जुड़े हैं. “आर्टमेट” के गठन के साथ ही प्रदर्शनियां शुरू कीं. जहाँ लोग कोरोना कॉल में ऑनलाइन एग्जीबिशन करने लगे, वहीं ‘आर्टमेट’ संस्था द्वारा प्रारम्भ से ही कलाकारों की ऑनलाइन पेंटिंग और फोटो एग्जीबिशन संचालित की जा रही हैं. उस्ताद अलाउद्दीन खान संगीत और कला अकादमी भोपाल के लिए अंतर्राष्ट्रीय खजुराहो कला मार्ट में (वर्ष 2015 और 2018) समन्वयक के रूप में काम किया. इसी कड़ी में (वर्ष 2021) खजुराहो डांस फेस्टिवल के दौरान आयोजित होने वाले “खजुराहो आर्टमार्ट” (भारत वर्ष का एक मात्र आर्ट फेयर जो सरकार आयोजित करती है -जो इस वर्ष नारी की सृजनात्मकता पर एकाग्र था) आयोजन को क्यूरेट करने का अवसर मिला. इनकी पहली कला प्रदर्शनी 1995 में कला परिषद, भोपाल में प्रदर्शित हुई. तब से इनकी कला यात्रा अनवरत जारी है. अब तक देश-विदेश में करीब 80 कला प्रदर्शनियों में इनकी कलाकृतियाँ प्रदर्शित हो चुकी हैं. उपलब्धियां/पुरस्कार: एकल व समूह प्रदर्शनियां- ‘धरातल’ कला परिषद, भोपाल,(1991-95), ‘7 शेड्स-1’  प्रीतमलाल दुआ आर्ट गैलरी, इंदौर तथा ‘साकार’ स्वराज भवन, भोपाल (2011), राजा रवि वर्मा आदरांजलि, भारत भवन, भोपाल, वाकणकर स्मृति राज्य कला प्रदर्शनी, उज्जैन, ‘अलाइव 6-7’ रवींद्र आर्ट गैलरी, नागपुर, जवाहर आर्ट गैलरी, जयपुर, (2012), दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव, दिल्ली, खजुराहो आर्टमार्ट, खजुराहो, प्रीतमलाल दुआ आर्ट गैलरी, इंदौर (2014), “ट्रान्स” कला प्रदर्शनी, वायुमंडल आर्ट गैलरी, लुधियाना, ‘अनेकता में एकता’- रविंद्र भवन ललित कला अकादमी, दिल्ली (2015), “आई एम द मैजिक हैंड्स”, एम.एस. हॉल, वडोदरा, डेलीकल स्प्रिंग, आईसीए गैलरी, जयपुर (2016), जयपुर कला महोत्सव, जवाहर कला केंद्र, जयपुर, नेपाल कला परिषद, काठमांडू, नेपाल (2017), अंतर्राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी, हैदराबाद राज्य कला गैलरी, ‘जानिव-3’  बालगंधर्व कला दीर्घा, पुणे (2018), ‘टर्निंग पॉइंट-1’ स्वराज कला वीथिका, भोपाल, ‘टर्निंग पॉइंट-2’ देवलालिकर कला वीथिका, 78वीं अखिल भारतीय कला प्रदर्शनी (2019). ऑनलाइन प्रदर्शनी: जम्मू एंड कश्मीर सेंटर फॉर क्रिएटिव आर्ट्स जम्मू द्वारा 2nd ऑनलाइन अंतर्राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी, महाराजा मानसिंह तोमर कला और संगीत संध्या संस्कृत समिति, ग्वालियर द्वारा ऑनलाइन राष्ट्रीय प्रदर्शनी, ‘सम्भावना कला मंच’ गाज़ियाबाद द्वारा ‘सम्भावनाएं 2020’, राष्ट्रीय ऑनलाइन प्रदर्शनी, (2020), खजुराहो आर्ट मार्ट, ऑनलाइन इंटरनेशनल एग्जीबिशन आर्ट फ़ॉर कॉज़, (2021), ऑनलाइन समूह शो “25/4” नेपाल आपदा (2015), ऑनलाइन प्रदर्शनी “आर्ट फॉर अर्थ” कला केयर समूह, नई दिल्ली (2014) सहित अनेक प्रदर्शनियां देश के प्रतिष्ठित आर्ट गैलरी में प्रदर्शित. ‘आर्टमेट’ के अंतर्गत अभी तक करीब 32 कला आयोजन जिसमें एकल, समूह कला प्रदर्शनियों के साथ ही कई वरिष्ठ कलाकारों के डेमो और हेरिटेज वॉक को क्यूरेट किया, जिसमें मुख्य रूप से 2014 में दिग्गज कलाकार डी.एन. भार्गव की 1 एकल प्रदर्शनी, वरिष्ठ कलाकार अखिलेश की 2 एकल प्रदर्शनियां (2015 और 2017) तथा कलाकार सचिन देव और राजेश पाटिल की 2 व्यक्ति प्रदर्शनी (2016) आयोजित की गईं. सम्मान- 9वीं वार्षिक कला प्रतियोगिता में शीर्ष 50 कलाकारों में सम्मानित, आर्ट सोसायटी पानीपत द्वारा उत्कृष्टता पुरस्कार. म.प्र. बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सम्मान (इंदौर 2018), प्रतिष्ठित पत्रिका समूह और डेली कॉलेज ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सम्मानित (2021). अतिथि व्याख्यान- महिला दिवस पर क्लब फनकार आर्ट गैलरी, उज्जैन म.प्र. सांस्कृतिक विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम (2020). अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर गवर्नमेंट फाइन आर्ट कॉलेज, ग्वालियर (2019). विभिन्न पत्रिकाओं- समाचार पत्रों में हिन्दी और मराठी में कहानियां प्रकाशित. संग्रह:  केंद्रीय संग्रहालय, इंदौर, अलियांस फ्रांसिस दे भोपाल सहित भारत और विदेशों में कलाकृतियां (निजी संग्रह) संग्रहित. रुचियां: बागवानी, किताबें पढ़ना, अच्छा संगीत सुनना और नए-नए व्यंजन बनाना. अन्य जानकारी: इनका उद्देश्य ऐसे लोगों के काम को आगे लाना है, जिनकी प्रतिभा को उपयुक्त मंच नहीं मिल पाता. ये संस्था के माध्यम से उनकी प्रतिभा, उनके काम को असीमित लोगों तक पहुँचाना चाहती हैं. संस्था की ऑनलाइन एग्जीबिशन के जरिये अब तक सैकड़ों कृतियां लोगों ने खरीदी हैं. पता: कोलार रोड, जे.के. हॉस्पिटल के पास भोपाल -01.  ई-मेल: gadkaripreeta@gmail.com.

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp