पद्मजा श्रीवास्तव

जन्म: 17 जनवरी, स्थान: पुणे. माता: श्रीमती नयनतारा पांसे, पिता: श्री दामोदर राव पांसे. जीवन साथी: श्री दीपक श्रीवास्तव. संतान: पुत्र -02. शिक्षा: बी. आर्क (बैचलर ऑफ़ आर्किटेक्चर). व्यवसाय: आर्किटेक्ट, ट्राइबल एंड फोक आर्ट, कल्चर प्रोग्रामर, निदेशक – Gaia Tree (Gond Tribal Art).  करियर यात्रा: गोंड कलाकारों को  अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रमोट करने के कार्य में संलग्न. वर्ष 2005 में पति के साथ वास्तुशिल्प कार्य की शुरुआत करते हुए मप्र में प्रमुख टाइगर रिजर्व के आसपास वाइल्ड लाइफ लॉज तैयार किए. मप्र की देशज कला – खासकर गोंड और भीली लोककला से प्रभावित होकर उनके प्रचार-प्रसार का निर्णय किया. इसके लिए वे विभिन्न लोक कलाकारों और कारीगरों से मिली. प्रारम्भ में एक फ्रेंच संस्था Association Duppata के साथ मिलकर काम करना शुरू किया. (यह संगठन भारत में आदिवासी कलाकारों और महिलाओं के लिए काम करता है). वर्ष 2010 में Gaia Tree (Gond Tribal Art) स्थापना की. भारत की जनजातियों, विशेष रूप से मध्यभारत के परधान गोंड जनजाति के लिए पूर्णकालिक प्रमोटर और कार्यकर्ता के रूप में कार्य जारी. उपलब्धियां: प्रकाशन – सह लेखक – फ्रेंच भाषा में बच्चों की एक किताब ‘एल’एलीफेंट वोलेंट’ (2015). गोंड कला को बढ़ावा देने और योगदान के लिए इंडियन एंबेसी फ्रांस द्वारा मान्यता प्राप्त तथा विभिन्न राष्ट्रीय समाचार पत्रों (बिजनेस टुडे और विमेंस एरा आदि) में प्रकाशन. अंतर्राष्ट्रीय लोक कला बाजार (सांता फ़े, न्यू मैक्सिको, यू.एस.ए) में लगातार 5 वर्षों तक (2012-2016) विभिन्न लोक कलाकारों की कृतियों का प्रदर्शन. भारतीय दूतावास द्वारा पेरिस, फ्रांस में मध्य भारत की चार आदिवासी महिला कलाकारों और उनकी कृतियां प्रस्तुत करने के लिए मुख्य वक्ता के रूप में आमंत्रित. एक्ज़िम बैंक ऑफ़ इंडिया और पद्मजा द्वारा संयुक्त रूप से उत्पाद विकास कार्यशाला का आयोजन तथा आदिवासी कलाकारों के उत्पादों की विशेष श्रृंखला तैयार करने में सहयोग. Alliance Francaise de Bhopal और इंदौर में कार्यकारी बोर्ड की अध्यक्ष होने के साथ-साथ आदिवासी लोक कलाओं (मूर्तियों, चित्रों) की प्रदर्शनी और कार्यशालाओं का आयोजन. वर्ष 2019 में मिलान (इटली) और पेरिस (फ्रांस) में एग्जीबिशन के माध्यम से प्रदर्शनियों का आयोजन कर बैगा जनजाति के कलाकारों तथा उनके कार्यों को बढ़ावा. विदेश यात्रा:  फ्रांस. रुचियाँ – एंथ्रोपोलॉजी, कुकिंग, हैंडीक्राफ्ट. अन्य जानकारी: Duppata फ्रांस स्थित एक गैर सरकारी संगठन है, जो चेन्नई (भारत) में महिला सशक्तिकरण के लिए काम कर रहा है. इस संस्था के सहयोग से पद्मजा द्वारा प्रतिवर्ष फ्रांस में (गोंड,वारली, मधुबनी, भीली) कला प्रदर्शनियों का आयोजन किया जाता है. गोंड कला के बारे में जन जागरूकता लाने बच्चों और वयस्कों के लिए कई कार्यशालाएं आयोजित.  के पास अपनी कला का प्रसार करने और विक्रय का कोई साधन नहीं है, पद्मजा साधनहीन लोक कलाकारों को पूरी दुनिया में प्रदर्शनियों और कला उत्सवों में भाग लेने में मदद करती हैं. पता: ई-2, 101, अरेरा कॉलोनी, भोपाल -16. ई-मेल: gondtribalart@gmail.com, वेब: gondtribalart.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp