नीलिमा बोरासी

जन्म: 24 जुलाई, स्थान: इन्दौर. माता: श्रीमती हेमलता बोरासी, पिता: श्री मुन्ना बोरासी. शिक्षा: बी.ए., एम.ए., एन.आई.एस. (पटियाला 1 वर्ष), बी.पी.एड. व्यवसाय: कुश्ती कोच (म.प्र. शासन). करियर यात्रा: 2018-19 में पटियाला से एनआईएस किया. 2020 से कुश्ती अकादमी भोपाल में कोच के रूप में कार्यरत. पिता मुन्नालाल बोरासी घर में ही अखाड़ा चलाते थे. नीलिमा की पहलवानी में रुचि को देखते हुए पिता ने ही उन्हें पहलवानी के गुर सिखाए. मैसूर में हुई राष्ट्रीय स्तर की रेसलिंग स्पर्धा में नीलिमा ने पहली बार 2011 में हिस्सा लिया और इस स्पर्धा के दो मैचों में सफलता भी मिली. वर्ष 2012 में कोलकाता में सीनियर नेशनल स्पर्धा में हिस्सेदारी की और कांस्य पदक जीता. इसके बाद मेडल और ट्राफियां जीतने का सिलसिला चल पड़ा. कुश्ती के अलावा नीलिमा शस्त्र कला में भी निपुण हैं. शस्त्र कला में मिसाल बन चुकी नीलिमा इन दिनों अपने कौशल से स्वयं के द्वारा संचालित रामनाथ गुरु व्यायाम शाला तथा बालिका शस्त्र कला केंद्र में लड़कियों को शस्त्र कला तथा पहलवानी के दांव पेंच  सीखा रही हैं. इनके द्वारा प्रशिक्षित बच्चे राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले चुके हैं. केंद्र में शस्त्र कला के तहत तलवार चलाना, भाला, डंडे के मार से बचाव के गुर सिखाएं जाते हैं. उपलब्धियां/पुरस्कार: सीनियर नेशनल कुश्ती प्रतियोगिता (2013 कोलकाता) कांस्य पदक, नेशनल एक्सीलेंस अवार्ड (2016), मालव रत्न अवार्ड (2017),  इंदिरा गांधी खेल रत्न अवार्ड (2018), शार्ट फ़िल्में फेस्टिवल अवार्ड (2016), नेताजी सुभाष मंच इंदौर द्वारा आजाद माथुर अलंकरण सम्मान (2019), नीलिमा ने राज्य स्तरीय स्पर्धाओं में आठ स्वर्ण पदक  हासिल किये हैं.  रुचियां: पेंटिंग, आर्ट एण्ड क्राफ्ट, संगीत, नृत्य. अन्य जानकारी: महज 22 साल की उम्र में बालीवुड दिग्गजों (सलमान-अनुष्का ‘सुल्तान’, आमिर ‘दंगल’) के साथ काम करने का अवसर मिला. सुल्तान फिल्म में सलमान खान, अनुष्का शर्मा को कुश्ती का प्रशिक्षण दिया व फिल्मों में भूमिका निभाई. शेर-ए-हिन्दुस्तान दंगल में पुरुष पहलवानों को खुली चुनौती देते हुए पुरुष पहलवानों को दो बार शिकस्त देते हुए पुरस्कार हासिल किये. पता: 229, बड़ी ग्वाल टोली, तिलक नगर, इन्दौर -18. ई-मेल: neelimaborasi546@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp