नीलिमा करैया

जन्म: 21 अगस्त, स्थान: चांपा (छग). माता: श्रीमती सीता देवी वर्मा. पिता: स्व. लखन लाल वर्मा. पति: स्व. जगदीश चन्द्र करैया. संतान: पुत्र -03 पुत्री -02. शिक्षा: एम.ए., बी.एड., एल.एल.बी. व्यवसाय: शिक्षण, व्याख्याता (हिन्दी). करियर यात्रा: हायर सेकेंडरी वनस्थली विद्यापीठ, जयपुर (राज.) से, बी.ए. तथा एल.एल.बी. सागर विश्वविद्यालय और एम.ए., बी.एड. की डिग्री बरकतउल्ला विश्वविद्यालय भोपाल से प्राप्त की. बचपन से ही घर में साहित्यिक माहौल मिला. माँ और पिताजी दोनों की ही पढ़ने में बहुत रुचि थी, धीरे-धीरे इनका रुझान भी कविताएं -कहानियां पढ़ने-लिखने की ओर होने लगा. इनकी शुरूआती शिक्षा अनेक स्थानों पर हुई, चौथी कक्षा के लिए वनस्थली विद्यापीठ, जयपुर (राज.) की एंट्रेंस परीक्षा पास करने के बाद फर्स्ट इयर तक यहीं शिक्षा ग्रहण की. पांचवी कक्षा से उड़ीसा के चीफ मिनिस्टर बीजू पटनायक ने स्कालरशिप स्वीकृत की. वनस्थली में पढ़ाई के साथ-साथ सिलाई, पाक कला, फ्लाइंग, घुड़सवारी, तैराकी, एन.सी.सी और बहुत कुछ सीखा. फर्स्ट इयर में शादी हो गई. बाकी शिक्षा शादी के बाद ही पूरी की. एक गर्ल्स स्कूल में 2 साल पढ़ाया, लेकिन कुछ कारणों से यह नौकरी छोड़ना पड़ी. इसके बाद 79 से होशंगाबाद के सेठ गुरु प्रसाद अग्रवाल हांयर सेकेंडरी स्कूल में 27 साल तक शिक्षण कार्य किया. जहां पहले लेक्चरर और बाद में वाइस प्रिंसीपल का दायित्व संभाला. इसके बाद अनेक स्कूलों में शिक्षण कार्य किया. गरीब बच्चों और  बोर्ड के स्टूडेंट्स को निशुल्क पढ़ाया. उपलब्धियां/सम्मान: पिछले 5-6 वर्षों से विभिन्न साहित्यिक पटलों से जुड़ी हैं (किस्सा कोताह 2-/साहित्य की बात-साहित्यिक संवाद), पत्र-पत्रिकाओं में कविताओं का प्रकाशन, वर्तमान में लेखन कार्य जारी. पुस्तक समीक्षा “केरल का सामाजिक आंदोलन और दलित साहित्य”. रुचियां: पढ़ना, पढ़ाना और सामाजिक कार्य. पता: श्रीमती नीलिमा करैया, बोहरा मस्जिद के पास, राजा मोहल्ला, होशंगाबाद (मप्र.) -01

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp