निशा डाले

जन्म: 07 नवंबर, स्थान: हरदा. माता: श्रीमती सरला पाराशर, पिता: श्री नर्मदा प्रसाद पाराशर. जीवन साथी: श्री सुभाष चन्द्र डाले. संतान: पुत्र -01, पुत्री -01. शिक्षा: एम.ए. व्यवसाय: गृहिणी/समाज सेवा. करियर यात्रा: प्राथमिक और हायर सेकेण्डरी तक शिक्षा हरदा में नियमित छात्रा के रूप में हुई, तत्पश्चात कॉलेज की (एम.ए. हिंदी साहित्य) पढ़ाई शादी के बाद प्राइवेट तौर पर की पूर्ण की. साहित्य में रुचि शुरू से ही रही, स्कूल की पत्रिकाओं में यदाकदा स्वरचित रचनाएं प्रकाशित होती रहीं. हिंदी साहित्य परिषद के पाठक मंच से जुड़ने के बाद सभी वरिष्ठ सहित्यकारों का प्रोत्साहन मिलता रहा और साहित्य यात्रा अनवरत चलती रही. प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में रचनाएं सतत प्रकाशित. समाजसेवा के क्षेत्र में दहेज, भ्रूण हत्या, बाल विवाह, महिला साक्षरता, घरेलू हिंसा आदि मुद्दों पर सतत कार्य. औषधीय पौधों का अध्ययन-रोपण कर बीमारियों के उपचार का प्रशिक्षण. उपलब्धियां/पुरस्कार: श्री मनु तुलसी स्मृति सम्मान, मप्र जैव विविधता बोर्ड द्वारा जैव विविधता से महिला सशक्तिकरण सम्मान, लायन्स क्लब द्वारा विश्व नागरिक सम्मान, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सम्मानित, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास होशंगाबाद द्वारा सम्मानित, शिव संकल्प साहित्य परिषद द्वारा यूथ श्री सम्मान, नारी रत्न साहित्य सुरभि, श्रीमती मीना वाजपेयी स्मृति सम्मान, पर्यावरण संरक्षण के लिए दैनिक भास्कर एवं अनेक राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित. रुचियां: साहित्य एवं समाजसेवा, अन्य जानकारी: स्कूलों/संस्थाओं में माटी गणेश, बीज गणेश का प्रचार-प्रसार तथा लोगों को प्रशिक्षण. पूर्व लायनेस अध्यक्ष, अखिल भारतीय आदिगौड़ बाबीशा ब्राह्मण समाज की जिलाध्यक्ष, फीमेल फ्लोरा वेलफेयर सोसायटी की अध्यक्ष, महिला साहित्यकारों पर केन्द्रित “पुनश्च” का सह-संपादन, वरिष्ठ साहित्यकार श्री दिनेश द्विवेदी द्वारा लघुकथा, कविता पर केन्द्रित पत्रिका “शिनाख्त” का संपादन एवं प्रकाशन. पता: अमृतश्री लॉज, मंगलवारा, होशंगाबाद -01. ई-मेल: nisha.daley@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp