नम्रता कचोलिया

जन्म: 10 दिसंबर, स्थान: कांटाफोड़ (देवास). माता: श्रीमती साधना बियाणी, पिता: श्री गिरधर गोपाल बियाणी. जीवन साथी: श्री रोहन कचोलिया. संतान:  पुत्र -01. शिक्षा: बी.बी.ए. (वनस्थली विद्यापीठ राजस्थान), एम.बी.ए. (फाइनेंस/मार्केटिंग) आईआईएलएम इंस्टीट्यूट (गुरुग्राम). व्यवसाय: राइटर/मोटिवेशनल स्पीकर. करियर यात्रा: गांव में दसवीं तक हिंदी माध्यम स्कूल से पढ़ने के बाद आगे की सम्पूर्ण पढ़ाई अंग्रेज़ी माध्यम से पूर्ण की. वर्ष 2014 में 6 माह तक एक स्वयंसेवी संस्था में कार्य किया. निम्न आय वर्ग के बच्चों के लिए इंग्लिश स्पोकन क्लास में सेवाएं दीं. लेखन और सामाजिक कार्यों के साथ ही वर्ष 2015 से पारिवारिक व्यवसाय (शांति ओवरसीज़ इंडिया लिमिटेड) में महत्वपूर्ण दायित्व सम्भाल रही हैं. तात्कालिक सामयिक विषय को लेकर तथा पारिवारिक, सामाजिक व धार्मिक सकारात्मकता पर लेख दैनिक भास्कर, नई दुनिया, पत्रिका, अमर उजाला (पोर्टल), दोपहर मेट्रो, गुड ईवनिंग जैसे प्रतिष्ठित समाचार पत्रों में नियमित प्रकाशित. वर्ष 2014 में ‘कृष्ण मोहन’ सामाजिक सेवा संस्थान की स्थापना की. उपलब्धियां/पुरस्कार: ‘स्माईल चैरिटी’ संस्था द्वारा उभरती ओजस्वी लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में सम्मान. विदेश यात्रा: स्विट्जरलैंड, फ्रांस (पेरिस), सिंगापुर, बाली (इंडोनेशिया), स्पेन, दुबई. रुचियां: करंट अफेयर्स, पढ़ना-लिखना, नए स्थानों के बारे में जानना और लोगों से संवाद स्थापित करना/मिलना-जुलना. अन्य जानकारी: अपनी लेखनी तथा वाणी से पाठकों को नई दिशा दे रही हैं. नम्रता एक मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर भी पहचान बना रही हैं. उन्होंने लॉकडाउन के दौरान और उससे पहले भी विभिन्न संस्थाओं में जाकर महिलाओं और बच्चों को उत्प्रेरित किया है. त्रिविध सेवा संस्थान में कोषाध्यक्ष, श्री माहेश्वरी टाइम्स पत्रिका में वीमेंस डे के स्पेशल एडिशन में उभरती लेखिका के रूप में नम्रता पर आलेख प्रकाशित. पता: 11, बी.जे. विहार एक्सटेंशन, शिव मोती नगर के पास, नेमावर रोड, इंदौर -01.  ई-मेल: writer.namratakacholia@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp