तृप्ति मिश्रा

जन्म: 21 जून, स्थान: इंदौर. माता: श्रीमती रेवा द्विवेदी, पिता: श्री रविन्द्र द्विवेदी. जीवन साथी: स्व. श्री आशीष मिश्रा. संतान: पुत्र -01. शिक्षा: बीएससी. (होलकर साइंस कॉलेज इंदौर), पीजीडीबीएम (सिम्बायोसिस, पुणे). व्यवसाय: लेखिका एवं कवयित्री. करियर यात्रा: म.प्र. हस्तशिल्प निगम एवं खादी बोर्ड प्रशिक्षण संस्थान के साथ रजिस्टर्ड मास्टर ट्रेनर- क्राफ्ट्स (सरकारी विभागों में कौशल उन्नयन शिविरों में), तहसील स्तर पर  पारिवारिक सुलह समिति की सदस्य (भरण-पोषण एवं पारिवारिक समझौतों में) एवं सुलह अधिकारी के रूप में लंबे समय तक कार्य किया. वर्तमान में स्वतंत्र लेखन कार्य जारी. उपलब्धियां/सम्मान: लुप्त होते जा रहे ढोलक वाले गीतों के साहित्य पर शोध एवं लय सहित संरक्षण कार्य, लोकगीतों पर आधारित पुस्तक “लोक-लय” (अत्यंत पुरातन 70 भक्ति गीतों का संकलन) एवं नज़्मों की किताब- “यादों के पत्ते” प्रकाशित. शब्दाक्षर कोलकाता द्वारा आयोजित ‘पांच देश – पांच कवियित्रियां’ कार्यक्रम में भारत का प्रतिनिधित्व. मध्यप्रदेश में 5 हज़ार से अधिक महिलाओं को कौशल उन्नयन शिविरों में प्रशिक्षण,  अनेक विभागीय एवं निजी  कार्यक्रम/आयोजनों के संचालन का अनुभव. इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल में नीलेश मिसरा जी के स्लो-एप्प के लोकार्पण समारोह का संचालन एवं काव्य पाठ. अनेक पत्र-पत्रिकाओं में लेख, कहानी, कविताएं प्रकाशित, देश के प्रतिष्ठित विभिन्न मंचों एवं दूरदर्शन पर कविता पाठ. पुरस्कार-  महिला वित्त विकास निगम, मप्र. (2007) एवं सूक्ष्म लघु/मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार, दिल्ली, (2008) द्वारा महिला सशक्तिकरण से संबंधित पुरस्कार, नेशन बिल्डर अवार्ड (रोटरी क्लब-2017), नारी शक्ति को सम्मान (बृजभूमि फाउंडेशन- 2019), पर्यावरण संरक्षण सम्मान (अखिल भारतीय सर्व भाषा संस्कृति समन्वय समिति 2020) के अलावा अनेक संस्थाओं से प्रशस्ति-पत्र तथा सम्मान. रुचियां: लेखन, गायन, लोक गायन. अन्य जानकारी: देश के प्रतिष्ठित कॉलेज से एमबीए करने के बाद कॉरपोरेट जगत में काम करने के बजाय, खादी ग्रामोद्योग, लघु उद्योग निगम एवं हस्तशिल्प जैसे विभागों के साथ ट्रेनर के रूप जुड़कर महिलाओं के सशक्तिकरण का काम चुना. 17 सालों से मिट्टी के गणेश बनाने का निशुल्क प्रशिक्षण. सिलाई-कढ़ाई से लेकर करीब 80 तरह के क्राफ्ट तथा भारतीय मांडना आर्ट की एक्सपर्ट, देश के अग्रणी प्रकाशन डायमण्ड पॉकेट बुक्स की प्रतिष्ठित पत्रिका गृहलक्ष्मी के फेसबुक पेज पर लोकगायन का शो “लोक-लय” हर बुधवार प्रसारित. सदस्य ( बाल संरक्षण समिति, महिला एवं बाल विकास विभाग म.प्र. शासन), शिल्पियों के उत्थान के लिए बनाई गई संस्था इंदौर हैंडीक्राफ्ट क्लस्टर क्लब  (हथकरघा विभाग म.प्र. शासन) इंदौर की भूतपूर्व अध्यक्ष. पता: 172 सेवा सदन, आर्य समाज मंदिर के पास, लुनियापुरा, महू -41. ई-मेल: ttimishra@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp