डॉ. स्मृति शुक्ल

जन्म: 17 फरवरी, स्थान: पथरिया (दमोह). माता: श्रीमती प्रभा दुबे, पिता: स्व. भगवती प्रसाद दुबे. जीवन साथी: डॉ. अभिषेक शुक्ल. संतान: पुत्र -01, पुत्री-01. शिक्षा: एम.ए. (हिन्दी), पीएचडी (मैथिली शरण गुप्त के काव्य में प्रयुक्त शब्दावली का भाषा वैज्ञानिक और साहित्यिक अनुशीलन). व्यवसाय: प्राध्यापक. करियर यात्रा: सागर वि.वि. से एम.ए. और पीएचडी की उपाधि प्राप्त करने के बाद 1993 में मप्र. लोक सेवा आयोग द्वारा सहायक प्राध्यापक पद पर चयनित, 2007 में प्राध्यापक पद पर पदोन्नत, विगत 26 वर्षों से मध्यप्रदेश के विभिन्न शासकीय महाविद्यालयों में अध्यापन, वर्तमान में डॉ. हरिसिंह हिन्दी शासकीय मान कुंवर कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, जबलपुर में कार्यरत. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रकाशन- 2 पुस्तकें प्रकाशित “ हिन्दी साहित्य के कुछ विचार” तथा  निकष: बत्तीस. दो पुस्तकें शीघ्र प्रकाश्य. सम्मान- विप्रकुल परिषद् जबलपुर द्वारा “शिक्षा रत्न” सम्मान (2015), शैक्षणिक सेवा उच्च शिक्षा, प्राध्यापक, संघ द्वारा सर्वाधिक शोध कार्य के लिए शोध सम्मान (2015), साहित्यिक संस्था जागरण द्वारा “राष्ट्र भाषा गौरव अलंकरण” सम्मान (2016), म.प्र. राष्ट्र प्रचार समिति भोपाल द्वारा पुस्तक “हिन्दी साहित्य के कुछ विचार” के लिए हुक्म देवी कृति सम्मान (2017), इसी पुस्तक के लिए कादम्बरी संस्था द्वारा रमेश चन्द्र चौबे समीक्षा सम्मान, म.प्र साहित्य अकादमी द्वारा “नंददुलारे वाजपेयी आलोचना पुरस्कार” (2017).  परिकथा, पाखी, नया ज्ञानोदय,  वागर्थ, पहल, लमही, माटी, रचना, वीणा, साक्षात्कार, अक्षरा, साहित्य सरस्वती, विपाशा सहित देश की लगभग सभी प्रतिष्ठित पत्रिकाओं और कनाडा से प्रकाशित अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में 150 से अधिक आलोचनात्मक लेख प्रकाशित. 80 शोध पत्र राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय जर्नल्स में प्रकाशित. रुचियां: साहित्य के पठन-पाठन में अभिरुचि. अन्य जानकारी: देश के प्रतिष्ठित सहित्यिक आयोजनों में वक्ता के रूप में आमंत्रित, आकाशवाणी जबलपुर से विभिन्न साहित्यिक और सामाजिक विषयों पर 50 से अधिक वार्ताएं प्रसारित, हिन्दी की समकालीन कविता और दलित साहित्य पर यूजीसी  द्वारा स्वीकृत 4 लघु शोध परियोजनाएं पूर्ण. 15 शोधार्थियों को मार्गदर्शन में पीएचडी उपाधि प्राप्त, मध्यभारत साहित्य समिति-इंदौर, भारतीय हिन्दी परिषद- इलाहाबाद, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति-भोपाल, ईंटेक आदि संस्थाओं की आजीवन सदस्य, 200 से अधिक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठियों में शोध पत्र प्रस्तुत, 10 वर्षों तक महाविद्यालयीन शोध पत्रिका “अन्वीक्षा” का सह- संपादन एवं संपादन. पता: ए-16, पंचशील नगर, नर्मदा रोड, जबलपुर (म.प्र.) 01. ई-मेल: s_shukla88@yahoo.com

 

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp