डॉ. सुचिता राउत

जन्म: 14 मार्च, स्थान: ग्वालियर. माता: स्व. श्रीमती रागिनी पवार, पिता: स्व. श्री. देवेंद्र राव पवार. जीवन साथी: श्री विजय कुमार राउत. संतान: पुत्र -01, पुत्री- 01. शिक्षा: एम.ए. (चित्रकला, स्वर्ण पदक), ग्वालियर, नेट-1988 और चित्रकला में राष्ट्रीय डिप्लोमा, पीएच.डी. (विषय- रुद्रहंजी का व्यक्तित्व, कृतित्व एवं उपलब्धियां’ 1996). व्यवसाय: अध्यापन/स्वतंत्र कलाकार चित्रकला. करियर यात्रा: वर्ष 1996 से अक्टूबर 2008 तक कार्मल कॉन्वेंट स्कूल बीएचईएल भोपाल में वरिष्ठ कला शिक्षिका, सितम्बर 2008 से दिल्ली पब्लिक स्कूल में कला विभागाध्यक्ष के रूप में कार्यरत तथा कला कार्य में संलग्न. उपलब्धियां/पुरस्कार: चित्रकला प्रदर्शनी- म.प्र. कला प्रदर्शनी,  अखिल भारतीय कालिदास पेंटिंग और मूर्तिकला प्रदर्शनी-उज्जैन, अखिल भारतीय कला प्रदर्शनी–पटना, प्रथम अखिल भारतीय महिला कला प्रदर्शनी-दिल्ली, पुरस्कार विजेता प्रदर्शनी-एस.सी.जेड.सी.सी. नागपुर, इंदौर, हैदराबाद, बैंगलोर और पुणे, 84वीं अखिल भारतीय कला प्रदर्शनी-भारतीय ललित कला अकादमी,-अमृतसर, अखिल भारतीय कला प्रदर्शनी-कुंभ मेला, प्रयागराज के लिए चयनित, कला मार्ट-  खजुराहो महोत्सव में कृतियां प्रदर्शित. सम्मान- राज्य स्तरीय छात्रोत्सव, भोपाल- प्रथम पुरस्कार (1980), अखिल भारतीय कालिदास पेंटिंग और मूर्तिकला प्रदर्शनी उज्जैन में पुरस्कृत (1985, 1987 और 1988), रिदम आर्ट्स, सोसाइटी, भोपाल द्वारा राज्य स्तरीय पुरस्कार (1989), अखिल भारतीय कला प्रतियोगिता प्रदर्शनी में संस्कृति केंद्र नागपुर (दक्षिण मध्य क्षेत्र) द्वारा सम्मानित (1990), संस्कार भारती, भोपाल द्वारा राज्य स्तरीय पुरस्कार (1991, 1995), प्रशासन अकादमी, भोपाल द्वारा सम्मानित (1996), उत्तम आचार्य पुरस्कार, युवा दूत अंतर्राष्ट्रीय हैदराबाद (1997), गुरु द्रोणाचार्य सम्मान, नई दिल्ली (2000),  शिक्षण और स्कूल नेतृत्व में उत्कृष्टता के लिए सीबीएसई सम्मान (2020-21), छठी अखिल भारतीय कला प्रदर्शनी 1998 (नई दिल्ली), क्रिएटिव टीचिंग एंड डिस्प्ले- पेंटिंग एचटी-पेस दृष्टिकोण (2004), अखिल भारतीय वंदेमातरम पोर्ट्रेट प्रतियोगिता- स्वराज भवन भोपाल (2005 और 2006) आदि स्थानों पर सम्मानित तथा पुरस्कृत. प्रकाशन-  एन.सी.ई.आर.टी द्वारा कक्षा छठी, सातवीं-आठवीं के लिए कला शिक्षा-शिक्षक पुस्तक का लेखन कार्य, एन.सी.ई.आर.टी. की पुस्तकों में योगदान, 11वीं कक्षा के लिए ललित कला –‘ भारतीय कला का परिचय’ भाग-I पाठ्यपुस्तक, 12वीं कक्षा के लिए ललित कला –‘ भारतीय कला का परिचय’ भाग-II पाठ्य पुस्तक में योगदान. रुचियां: संगीत, कविता लेखन एवं पाककला. अन्य जानकारी: स्वयंप्रभा चैनल 2020 (लॉकडाउन के दौरान) में एनसीईआरटी द्वारा विजुअल आर्ट्स पर 9 लाइव इंटर एक्टिव सत्र में भागीदारी. पता: 352-बी,  सर्वधर्म कॉलोनी,  कोलार रोड,  भोपाल 42, ई-मेल: artist.suchita@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp