डॉ. शैली धोपे

जन्म: 5 दिसंबर, स्थान: अमरावती. माता: श्रीमती निर्मला हाण्डे. पिता:  स्व. श्री व्ही.ए. हाण्डे. जीवन साथी: श्री कमलेश धोपे. संतान: पुत्र -01. शिक्षा: एम.एस.सी. (प्राणी शास्त्र), पी.एच.डी. (कथक नृत्य). व्यवसाय: संस्थापक/संचालक- नृत्यांजलि कथक केन्द्र. करियर यात्रा: वर्ष 2000 से नृत्य सिखाना प्रारम्भ किया और 2008 में नृत्यांजलि कथक केन्द्र की स्थापना की. केंद्र में सामान्य बच्चों के साथ ही दिव्यांग बच्चों को नृत्य के माध्यम से जीवन की मुख्य धारा में लाने हेतु प्रयासरत. स्पेशल और मूक-बधिर बच्चों से बात करने के लिए इन्होंने स्वयं उनकी सांकेतिक भाषा सीखने के बाद उनसे संवाद स्थापित कर उन्हें नृत्य के प्रति प्रेरित किया. नृत्यांजलि कथक केंद्र द्वारा समाज के वंचित वर्ग और दिव्यांग बच्चों को निशुल्क प्रशिक्षण के साथ ही वर्ष में 4 आयोजन किये जाते हैं, जहां विद्यार्थी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हैं. उपलब्धियां/पुरस्कार: माय एफ.एम. द्वारा आर्ट एंड कल्चर का नेशनल अवार्ड, नृत्य शिरोमणि, महिला दिवस पर मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित, बेस्ट कोरियोग्राफर अवार्ड.  रुचियां: नृत्य सिखाना, पढ़ना, नृत्य पर नये-नये प्रयोग करना, नाटक करना. अन्य जानकारी: स्पेशल और दिव्यांग बालक-बालिकाओं के जीवन में नृत्य के माध्यम से बदलाव लाना, इनके जीवन का मुख्य ध्येय है. सम-सामयिक विषयों पर नृत्य के माध्यम से समाज में संदेश देने का कार्य कर रही हैं. बेटी बचाओ, भ्रूण हत्या बंद करो, ‘‘बापू के नाम’’, समर्थ द्रोपदी, नाचनी, कथक सृजन, ‘‘कथक प्रवाह’’, ‘‘कथक कबीरा’’ जैसे 100 से अधिक शो कर चुकी हैं. इनके द्वारा प्रशिक्षित एक दिव्यांग बालक अंकित सेन को कलकत्ता मूक-बधिर बच्चों की फिल्म “पीकेडी” में काम करने का अवसर मिला. डॉ. शैली मूक-बधिर और स्पेशल बच्चों के स्कूल में जाकर भी नृत्य सिखाती हैं, उनके लिए कार्यक्रम आयोजित करती हैं और उनकी ड्रेस और इनाम व अन्य खर्च भी स्वयं ही वहन करती हैं. पता: मकान/फ्लैट न 6/ए, नर्मदा रोड के पास, ग्रेनेड चौक जबलपुर -01. ई-मेल: shaileedhope@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp