डॉ. विभा चौरसिया

जन्म: 15 अप्रैल, स्थान: इंदौर. माता: श्रीमती मधुबाला चौरसिया, पिता: श्री रामनारायण चौरसिया. शिक्षा: बी.एस.सी, एम.ए., पीएचडी, एम.फिल. व्यवसाय: निदेशक- शारदा संगीत कला अकादमी/हिंदुस्तानी शास्त्रीय गायक. करियर यात्रा: बायोलॉजी साइंस से बीएससी करने के बाद संगीत विषय में गोल्ड मेडल के साथ देवी अहिल्या वि.वि. इंदौर से एम.ए, M.Mus इंदिरा संगीत कला वि.वि. खैरागढ़ से किया. इसके बाद एम.फिल और फिर हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत में पी.एच.डी की उपाधि प्राप्त की. नेट भी क्लीयर किया. माता-पिता ने बचपन से ही भारतीय शास्त्रीय संगीत के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया, उन्हें दस वर्ष की उम्र से संगीत की शिक्षा प्रारंभ करवाई. इसके बाद कई प्रसिद्ध और सम्मानित संगीतकारों और गायकों (डॉ. शशिकांत तांबे, डॉ. लीलावती, डॉ. सुवर्णा वाड, स्वर्गीय पं. बालासाहेब जी पोखवाले, पंडित प्रभाकर गोहदकर, पंडित कमल कमले तथा श्रीमती कल्पना जोकरकर, उप शास्त्रीय संगीत – श्रीमती अदिति बनर्जी आदि) के मार्गदर्शन में संगीत की विधिवत शिक्षा ग्रहण की. देश के अनेक प्रसिद्ध संगीतकारों से संगीत की बारीकियां सीखी. इन्होंने भारत के विभिन्न शहरों में भारतीय शास्त्रीय संगीत और सुगम संगीत में एकल और युगल (बहन आभा के साथ) प्रस्तुतियां दी हैं. विभिन्न पत्रिकाओं में लेख व शोध पेपर प्रकाशित. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रकाशन- राग की अवधारणा, इसका विकास, नवप्रवर्तन और प्रयोग विषय पर इनके द्वारा लिखित पुस्तक “नई राग का निर्माण” जर्मनी से प्रकाशित. समारोह चीन में आयोजित मोजिआंग ट्विन्स फेस्टिवल में प्रस्तुति. इंडिया इंटरनेशनल सेंटर दिल्ली, इंडिया इंटरकांटिनेंटल कल्चरल एसोसिएशन -चंडीगढ़, एपिकेंटर गुड़गांव, सिस्टर निवेदिता शताब्दी समारोह- कोलकाता, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय -भोपाल, भारत भवन भोपाल, बाबा रामदास संगीत समारोह-जयपुर, नवरंग संगठन-वाराणसी, स्वर्णानुभूति और संगीत संकल्प, अमरेली (गुजरात), स्वर्ण जयंती समारोह रामकृष्ण आश्रम- ग्वालियर, डी.टी. जोशी स्मारक संगीत समारोह- बर्दवान (वे.बं.), रामकृष्ण मिशन, नारायणपुर (सीजी, ग्रेटर सीजी), उस्ताद अलादिया खान संगीत समारोह- मुंबई, प्राचीन कला केंद्र- चंड़ीगढ़ सहित देश के अनेक प्रतिष्ठित मंचों पर प्रदर्शन. सम्मान-पुरस्कार- शास्त्रीय संगीत रत्न, विधानसभा सभा सचिवालय, म.प्र. द्वारा आयोजित अंतर वि.वि. मॉक संसद प्रतियोगिता में प्रथम स्थान, देश के विभिन्न हिस्सों में आयोजित संगीत प्रतियोगिताओं में अनेक पुरस्कार प्राप्त किये. विदेश यात्रा: चीन (सांस्कृतिक यात्रा). रुचियां. रीडिंग, ड्राइंग, पेंटिंग. अन्य जानकारी: बहन आभा के साथ जुगलबंदी की रिकॉर्डिंग वर्ल्ड स्पेस रेडियो और वॉल्वर हैम्प्टन (यू.के.) के सुरतरंग रेडियो से प्रसारित की गई. डॉ. विभा वर्तमान में शारदा संगीत कला अकादमी में शास्त्रीय संगीत के साथ-साथ उप शास्त्रीय और सुगम संगीत की शिक्षा दे रही हैं. पता: 8/1, रेस कोर्स, रोड इंदौर-03. ई-मेल: vibha@abhavibha.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp