डॉ. प्रतिभा गुर्जर

जन्म: 28 अप्रैल, स्थान: बिलासपुर (छ.ग.). माता: श्रीमती पुष्पा देवरस, पिता: डॉ. वासुदेव जयकृष्ण देवरस. जीवन साथी: श्री प्रभाकर श्रीकृष्ण गुर्जर. संतान: पुत्र -01, पुत्री -01. शिक्षा: एम.ए., एम.एड., पी.एच.डी. व्यवसाय: अध्यापन (व्याख्याता हिन्दी साहित्य) सेवानिवृत. करियर यात्रा: शालेय और  स्नातकोत्तर शिक्षा बिलासपुर में हुई, नागपुर वि.वि. से पी.एच.डी. की उपाधि प्राप्त की. पाठ्येत्तर गतिविधियों में सक्रिय सहभागिता के परिणामस्वरूप साहित्य, संगीत, काव्य लेखन की प्रेरणा मिली. कक्षा दसवीं से लिखना प्रारम्भ किया साथ ही साहित्यिक, सांस्कृतिक क्रियाकलापों में सक्रियता बनी रही. सन 1974 में स्थानांतरित होकर भोपाल आई. हिन्दी विषय की व्याख्याता के रूप में अध्यापन कार्य करते हुए शा. हमीदिया क्र. 1, कन्या वि. भोपाल से सेवानिवृत. राष्ट्रभाषा प्रचार समिति भोपाल की आजीवन सदस्य के रूप में आयोजनों में सहयोग दिया. पहला कविता संग्रह ‘संसार किसी मन का’ 1997 में प्रकाशित. इसके उपरांत मराठी काव्य संग्रह का हिन्दी में अनुवाद एवं मराठी से हिन्दी में कई पुस्तकों का अनुवाद किया. उपलब्धियां/पुरस्कार: साहित्यिक अवदान के लिये विभिन्न साहित्यिक एवं सामाजिक संस्थाओं (राष्ट्रभाषा प्रचार समिति भोपाल, भारतेन्दु साहित्य समिति बिलासपुर, लेखक संघ भोपाल, अखिल भारतीय भाषा साहित्य सम्मेलन भोपाल अभिनव कला परिषद भोपाल, मान सरोवर महाराष्ट्र मंडल भोपाल) द्वारा सम्मानित एवं पुरस्कृत. प्रकाशन: दो हिन्दी काव्य संग्रह, एक मराठी काव्य संग्रह, एक समीक्षात्मक अध्ययन (छायावादोत्तर हिन्दी कविता विचारतत्व एवं रचनाशिल्प का अध्ययन), शताधिक कविताओं का विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशन, दूरदर्शन एवं आकाशवाणी में काव्यपाठ एवं वार्ताएं, अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मेलन 2001 इंदौर, 2006 सोलापुर एवं अखिल भारतीय कवियित्री सम्मेलन 2005 नासिक में सहभागिता. विदेश यात्रा: इंग्लैंड, संयुक्त अरब अमीरात, श्रीलंका, फ्रांस, स्कॉटलैंड, नेपाल, थाईलैंड. रुचियां: प्राकृतिक सौंदर्य दर्शन, पर्यटन भ्रमण, काव्य पाठ, सृजनात्मक लेखन. पता: ए-445, मान सरोवर कॉलोनी, शाहपुरा, भोपाल -19

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp