डॉ. नीना श्रीवास्तव

जन्म: 18 सितंबर, स्थान: कानपुर. माता: श्रीमती पुष्पलता सक्सेना, पिता: श्री आर.के. सक्सेना.  जीवन साथी: श्री राकेश श्रीवास्तव. संतान: पुत्र -01, पुत्री -01. शिक्षा: एम.ए. (संगीत गायन), पीएचडी. व्यवसाय: प्रोफेसर (उच्च शिक्षा, संगीत विभाग). करियर यात्रा: संगीत की प्रारंभिक शिक्षा आचार्य बृहस्पति जी की संगीत परम्परा के गुरु श्री नत्थूलाल जी से प्राप्त की, उसके पश्चात पं. रामबाबू भट्ट जी से उप शास्त्रीय संगीत की शिक्षा प्राप्त की. संगीत में गोल्ड मेडल के साथ स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त कर ‘महाकवि निराला के गीतों का सांगीतिक अनुशीलन’ विषय पर शोध कार्य किया. इनके 20 से अधिक शोध पत्र प्रकाशित हुए हैं. वर्तमान में सरोजिनी नायडू महाविद्यालय भोपाल में संगीत विभाग में प्राध्यापक (एमपीपीएससी द्वारा चयनित) के पद पर कार्यरत. देश के प्रतिष्ठित मंचों पर (भारत भवन, मानस भवन, रवीन्द्र भवन, जनजातीय संग्रहालय- भोपाल, उज्जैन, धार, जबलपुर, ग्वालियर, देवास, कानपुर, लखनऊ, मुंबई, वृन्दावन आदि) अनेक कार्यक्रमों की सफल प्रस्तुतियां. उपलब्धियां/पुरस्कार: संगम कला ग्रुप – नई दिल्ली द्वारा गज़ल सम्राट जगजीत सिंह के करकमलो से बेस्ट गज़ल सिंगर पुरस्कार, अभिनव कला परिषद, भोपाल द्वारा अभिनव संगीत रत्न, खुशबू एजुकेशनल एंड कल्चरल सोसायटी, भोपाल द्वारा फ़ख्र-ए-खुशबू सम्मान. शोध एवं शोधपरक शिक्षा के माध्यम से समाज में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में गुणवत्ता जागरूकता लाने हेतु सोशल रिसर्च फाउण्डेशन कानपुर द्वारा सम्मानित किया गया. रुचियां: संगीत, बागवानी, इंटीरियर डेकोरेशन, नए स्थानों का भ्रमण, पढऩा और लिखना. अन्य जानकारी: शास्त्रीय संगीत के अलावा उप शास्त्रीय तथा गज़ल की प्रख्यात कलाकार, विगत वर्ष भारत भवन में झूला कजरी महोत्सव में सफल प्रस्तुति, इनके निर्देशन में पांच छात्राओं को शोध उपाधि प्राप्त हो चुकी है और 6 छात्राएं वर्तमान में शोध कर रही हैं. इनमें से एक छात्रा दिव्यांग एवं दूसरी छात्रा ने ‘संगीत चिकित्सा द्वारा निःशक्त बच्चों का उपचार’ विषय  पर शोध कार्य करके उल्लेखनीय कार्य किया है. इनके यू-ट्यूब चैनल पर इनके भक्ति गीतों को एक करोड़ से अधिक लोग देख व पसंद कर चुके हैं. पता: ई-109/27, शिवाजी नगर, नूतन कॉलेज के पास, भोपाल -16. ई-मेल: neenashrivastava18@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp