डॉ. उषा गौर

जन्म: 10 मार्च, स्थान: जबलपुर. माता: स्व. श्रीमती चंद्रकांता तिवारी, पिता: स्व. श्री जगन्नाथ प्रसाद तिवारी. जीवन साथी: डॉ.पंकज गौर. संतान: पुत्री -01. शिक्षा: बीएससी, एमएससी (प्राणी शास्त्र),पी.एचडी (Immunology,Parasitology)  विक्रम विवि. उज्जैन . व्यवसाय: प्रोफेसर-सेवानिवृत्त,स्वतंत्र लेखन. करियर यात्रा: 37 वर्षों का अध्यापन अनुभव,1982 में शा.के.पी. महाविद्यालय देवास में पहली पदस्थापना, यहां 14 वर्ष कार्य करने के उपरान्त वर्ष 1996 से वर्ष 2015 तक शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय इंदौर में पदस्थ रहीं. वर्ष 2015 में शासकीय होल्कर आदर्श स्वशासी विज्ञान महाविद्यालय इंदौर में तीन वर्ष कार्य करने के पश्चात स्वैच्छिक सेवानिवृति. सेवानिवृति के पश्चात से साहित्यिक लेखन प्रारंभ. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रकाशन– ‘उषा की उडान’ (काव्य संग्रह), इंदौर लेखिका संघ ई-बुक में साझा प्रकाशन- ‘मुक्ता माणिक’, ‘मौत की सच्चाई’ (लघुकथा संकलन),मातृ स्नेह का सैलाब (काव्य संग्रह),जीवन संध्या- ( वृद्धावस्था विशेषांक ) लेख अस्ताचल की ओर — बात बात में, पिता को स्नेह सुमन-मेरे बाबूजी ( पद्य गद्य संग्रह), सफरनामा में संस्मरण शैक्षणिक यात्रा राजस्थान, एकांतवास के दिन ( संस्मरणात्मक कहानियां), मेरी पाठशाला-संस्मरण. हौसला,  उपवास, लड़कपन, प्यार का मोल,  थक गई क्या, निरूत्तर, असंभव, चाबी का गुच्छा आदि अनेक लघुकथाओं का लेखन. भारत के साहित्य रत्न पुस्तक, प्रतिलिपि, विश्व हिंदी रक्षक मंच सहित देश की प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में अनेक कविताएं, लघुकथाएं तथा लेख प्रकाशित. शुभ संकल्प Hunar Fox नेपाल भारत Literature collection में दो रचनाओं का प्रकाशन तथा नेपाल साहित्य समिति द्वारा सम्मानित. सम्मान- राष्ट्रपति द्वारा प्रेसीडेंट गर्ल्स गाइड अवार्ड, यूजीसी नई दिल्ली द्वारा टीचर्स फ़ेलोशिप अवार्ड, विश्व हिंदी लेखिका मंच द्वारा कल्पना चावला अवार्ड, हिंदी रक्षक मंच द्वारा सम्मानित, क्षितिज द्वारा लघुकथा वाचन में सम्मान व कविता पाठ.  सदस्य  – फ़िक्की लेडीज़ ऑर्गनाइजेशन(फ्लो)- इंटरनेशनल कांग्रेस ऑफ़ केमिस्ट्री एंड इंन्वायरमेंट. अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी. बेल्जियम में शोध पत्र प्रस्तुति. म.प्र. शासन उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय क्रीड़ा स्पर्धा में शतरंज विधा में उपविजेता. इंस्टीट्यूट फॉर एक्सीलेंस इन हायर एजुकेशन, भोपाल Capacity Building of Women Managers in Higher Education  के लिये चयनित. वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन में आयोजित प्राणी विज्ञान विषय की शब्दावली कार्यशाला में भागीदारी. केंद्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान (CDRI) लखनऊ में immunodiagnosis of Parasitic Diseases पर रिसर्च. इनके मार्गदर्शन में दो छात्राओं को शोध उपाधि ( पी.एचडी) प्राप्त तथा पांच छात्राएं शोध कार्य कर रही हैं. विदेश यात्रा: सिंगापुर, बैकाक, मलेशिया, फ्रांस (पेरिस), बेल्जियम (ब्रुसेल्स), इटली (रोम), हालैंड (एम्स्टर्डम), जर्मनी, स्विट्जरलैंड, अमेरिका – सिनसिनाटी, कोलंबस, डेटन, पिट्सबर्ग, शिकागो, डबलिन,  न्यूयॉर्क, वाशिंगटन डी सी, बोस्टन, फिलाडेल्फिया, बफेलो नियाग्रा, डेट्राइट लास वेगास, फ्लोरिडा, मियामी आदि. रुचियां: लेखन, कुकिंग, भजन-लोक गीत गाना, नृत्य करना, नाटक में हिस्सा लेना, रांगोली बनाना,स्टेज सज्जा करना. अन्य जानकारी: पिता, प्रसिद्ध शिक्षा शास्त्री होने के साथ साथ लेखक कवि, विचारक साहित्य रत्न प्राप्त एवं बुनियादी शिक्षा के प्रेरणा स्त्रोत व रहे. पढ़ाई के दौरान वाद-विवाद प्रतियोगिता, तात्कालिक भाषण, नृत्य-गायन, निबंध, लेखन आदि में विजेता. स्कूल-कॉलेज की बैडमिंटन टीम में रहते हुए अनेक बार विजेता रहीं. नौकरी के दौरान अनेक अकादमिक व शैक्षणिक भ्रमण में सहभागिता (देश-विदेश में). महाविद्यालयीन गतिविधियों का संचालन. जैव विविधता, वातावरण एवं पर्यावरण से संबंधित अनेक सेमिनार का आयोजन और सहभागिता. भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड पर्यावरण एवं वन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रमों की सदस्य रही. संभ्रांत समाज भारत के महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय सचिव. वर्तमान में उषा जी अपने जीवन के अनुभवों पर किताब लिख रही हैं. पता: 51- बी, प्रेम नगर,जी -1. विशाल प्राइड, मानिक बाग रोड,  इंदौर -07. ई-मेल: drushapankajgaur@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp