डॉ. अर्चना परमार

जन्म: 6 सितंबर, स्थान: उज्जैन. माता: श्रीमती प्रभा देवी गौड़. पिता: स्व. चाँद नारायण गौड़. जीवन साथी: स्व. धीरेन्द्र परमार. संतान: पुत्र -01, पुत्री -01.  शिक्षा: एम.ए. संगीत (गायन), पी.एच.डी. (मालवा के निर्गुणी गीत एवं भजन). व्यवसाय: प्रोफेसर. करियर यात्रा: वर्ष 1983 में शा. भगत सिंह महा. जावरा में संगीत व्याख्याता के पद पर नियुक्ति. यहां चार वर्ष कार्य करने के बाद वर्ष 1987 से वर्तमान तक शा. कन्या महा. उज्जैन में संगीत (कंठ) की प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष पद पर कार्यरत. उपलब्धियां/पुरस्कार: लोक संस्कृति साधक सम्मान,  उत्सव महाकालेश्वर सम्मान, सुर छैंया अभिनन्दन, अचीवर्स गायन अलंकरण, संजा महोत्सव अभिनन्दन, नवीन रंगश्री सम्मान. रनर अप- सारेगामा (जी.टीवी.), दूरदर्शन के सरगम कार्यक्रम में गायन प्रस्तुति. कैंसर पर बनी फिल्म ‘मंगलाचार’, सिंहस्थ पर्व पर बनी टेलीफिल्म ‘समुद्र मन्थन’ और म.प्र. के पहले टी.वी. सीरियल ‘जग हँसे खुद रोये’ में पार्श्व गायन. 8  छात्र-छात्राओं की शोध निर्देशक तथा अनेक छात्र-छात्राएं इनके निर्देशन में शोध कार्यरत. विदेश यात्रा: फिलीपींस, अमेरिका, नेपाल. रुचियां: गायन, पुस्तकें पढ़ना, यात्राएं करना. पता: 79,  अनिस विला के पीछे, देवास रोड,  उज्जैन -10. ई-मेल:   archanaparmar0609@gmail.com.

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp