जया जादवानी

जन्म: 1 मई, स्थान: कोतमा, (शहडोल), माता: स्व. लक्ष्मी देवी, पिता: स्व. रामन दास थावानी. जीवन साथी: प्रकाश जादवानी. संतान:  पुत्री –01, पुत्र – 02. शिक्षा:  एम. ए. हिन्दी, रविशंकर वि.वि. रायपुर (1990) और मनोविज्ञान- गुरु घासीदास वि.वि., बिलासपुर (1995). उपलब्धियां/सम्मान: प्रकाशन: कविता संग्रह- 1. मैं शब्द हूँ  2. अनंत संभावनाओं के बाद भी 3. उठाता है कोई एक मुठ्ठी ऐश्वर्य 4. पहिंजी गोल्हा में (सिंधी कविता संग्रह). कहानी संग्रह- 1. मुझे ही होना है बार –बार 2. अन्दर के पानियों में कोई सपना कांपता है 3, उससे पूछो 4. मैं अपनी मिट्टी में खड़ी हूँ कांधे पे अपना हल लिये 5. समंदर में सूखती नदी (प्रतिनिधि कहानी संग्रह) 6. बर्फ़ जा गुल (सिन्धी कहानी संग्रह) 7. खामोशियुनि जे देश में (सिन्धी कहानी संग्रह) 8 ये कथाएं सुनाई जाती रहेंगी हमारे बाद भी (प्रतिनिधि कहानी संग्रह) 9, अनकहा आख्यान 10. अणचयल आखाणी (सिन्धी कहानी संग्रह). उपन्यास- 1. तत्वमसि (तीसरा संस्करण) 2. कुछ न कुछ छूट जाता है 3. मिठो पाणी खारो पाणी –(तीसरा संस्करण- यह उपन्यास सिन्धी में भी प्रकाशित) 4. (हिन शहर में हिकु शहर हो सिंधी उपन्यास – सिंध में प्रकाशित) 5. देह कुठरिया. अनुवाद- 1. जे. कृष्णमूर्ति टू हिमसेल्फ का हिंदी अनुवाद 2. साहित्य अकादमी द्वारा प्रकाशित. ‘भगत– प्रेम प्रकाश की कविताओं का अनुवाद.  लद्दाख पर यात्रा वृतांत. अनेक कहानियों के नाट्य रूपांतरण ऑल इंडिया रेडियो, दिल्ली से प्रसारित. सम्मान- मुक्तिबोध सम्मान, ‘मिठो पाणी खारो पाणी’ पर कुसुमांजलि सम्मान’ 2017, कथा क्रम सम्मान’ 2017, कहानियों पर गोल्ड मैडल सहित कई अन्य छोटे-बड़े सम्मान. विदेश यात्रा: यू.एस. रुचियां: जीवन के रहस्यों और दुर्लभ पुस्तकों का अध्ययन करना, यायावरी, दर्शन और मनोविज्ञान में विशेष रुचि. अन्य जानकारी: “अन्दर के पानियों में कोई सपना कांपता है” पर ‘इंडियन क्लासिकल’ के अंतर्गत एक टेलीफ़िल्म का निर्माण, अनेक रचनाओं का अंग्रेजी, उर्दू, पंजाबी, उड़िया, सिन्धी, मराठी, बंगाली भाषाओँ में अनुवाद. एक कविता सी.बी.एस.सी कक्षा 8 में चयनित ‘इतना कठिन समय नहीं’. पता: 14, ख़ुशी एन्क्लेव, वी.आई.पी.- माना रोड, पोस्ट – रविग्राम, अमलीडीह, रायपुर –06  (छ.ग.). ई-मेल: jaya.jadwani@yahoo.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp