जयश्री साकल्ले

जन्म: 24 सितम्बर, स्थान: पिपरिया (मप्र.). माता: श्रीमती कुन्ती गार्गव, पिता: स्व. श्री मनोहरलाल गार्गव. जीवन साथी: श्री महेश साकल्ले. संतान: पुत्री -01. शिक्षा: एम.ए. (संगीत), नेट उत्तीर्ण (संगीत),  डिप्लोमा-सुगम संगीत/चित्रकला. व्यवसाय: संगीत शिक्षिका, गायिका. करियर यात्रा: भोपाल में 2 वर्ष अध्यापन कार्य के बाद संगीत विद्यालय रायपुर में 10 वर्ष संगीत शिक्षिका के रूप में कार्य किया. वर्तमान में गुरुजनों के सानिध्य में संगीत साधना एवं मंचीय शास्त्रीय संगीत प्रस्तुतियों के साथ संगीत शिक्षा तथा अपने शिष्यों को क्लासिकल वॉयस ऑफ इंडिया प्रतियोगिताओं एवं अन्य प्रस्तुतियों के सफल प्रदर्शन हेतु मार्गदर्शन कार्य जारी. उपलब्धियां/पुरस्कार: अपराजिता अवार्ड, गुनरस पिया अवार्ड. मुंबई की रेड रिबन कंपनी द्वारा स्वरचित भजनों का एल्बम गणपति वंदना रिलीज. आकाशवाणी के बालसभा एवं युवा वाणी कार्यक्रम में स्वरचित कविता पाठ, चित्रकला डिप्लोमा, संगीत एम.ए. तथा सुगम संगीत डिप्लोमा सभी में प्रावीण्य सूची में प्रथम स्थान. रुचियां: गायन, लेखन,  चित्रकला. अन्य जानकारी: अमेरिका के न्यूजर्सी शहर में स्वरचित संगीत रचनाओं की नृत्य नाटिका धर्मवीर भारती कृत (कनुप्रिया) का प्रदर्शन (नृत्यांगना श्रीमती अनुराधा दुबे द्वारा). पता: एफ-32, न्यू पंचशील नगर, कटोरा तालाब, सिंचाई कालोनी,  रायपुर 01.  ई-मेल: jaysakalle@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp