चिन्मयी त्रिपाठी

जन्म:16 मई, स्थान: सागर (म.प्र.). माता: श्रीमती सत्यवती त्रिपाठी, पिता: श्री राधावल्लभ त्रिपाठी. जीवन साथी: जोएल मुखर्जी. शिक्षा: एम.बी.ए. (मार्केटिंग). व्यवसाय: गायिका, संगीतकार और कवि. करियर यात्रा: चिन्मयी गायक और संगीतकार हैं. शास्त्रीय संगीत की शिक्षा लेने के बाद कुछ वर्षों तक कॉर्पोरेट जगत में जॉब किया. चिन्मयी Songdew Media नामक कंपनी की सह-संस्थापक भी रहीं हैं. इस दौरान भी उनका गायन, संगीत और कविताएं लिखना चलता रहा. विगत 2 वर्षों से चिन्मयी पूरी तरह से संगीत और साहित्य को समर्पित हैं. संगीत के अलावा, चिन्मयी हिंदी कविताएं और कहानियाँ लिखती हैं. उनकी कविताओं की नई किताब जल्द ही वाणी प्रकाशन से प्रकाशित होकर आ रही है. उपलब्धियां/पुरस्कार: अब तक दो एल्बम सुन ज़रा (2012) और मन बावरा (2013) रिलीज़ हो चुके हैं. इन्होंने दो वर्ष पहले ‘म्यूज़िक एंड पोएट्री’ प्रोजेक्ट नामक मुहीम की शुरुआत की. इसके अंतर्गत ये हिंदी कविताओं को गीतों के रूप में गाती हैं. एक crowed crowd funding के माध्यम से शुरू हुए इस प्रोजेक्ट में पिछले दो वर्षों में कई सुरीले गीत निकले हैं और एक पूरा एल्बम टाइम्स म्यूज़िक से रिलीज़ हो चुका है, जिसमें हिंदी साहित्य की कालजयी कविताओं को गीतों में पिरोया गया है. इसमें निराला, रामधारी सिंह ‘दिनकर’, शिवमंगल सिंह सुमन, महादेवी वर्मा, हरिवंश राय ‘बच्चन’ और धर्मवीर भारती जैसे दिग्गज कवियों की रचनाएं शामिल हैं. रुचियाँ:  ट्रेवलिंग, रीडिंग, कुकिंग. अन्य जानकारी: ‘सुन जरा’ और ‘मन बावरा’ से प्रसिद्ध हुईं चिन्मयी त्रिपाठी ने कविताओं को गाकर नया आयाम हासिल किया है. वे हिंदी कविताओं को संगीत के जरिए एक बार फिर मशहूर बनाने की कोशिश कर रही हैं. महादेवी वर्मा और रामधारी सिंह दिनकर आदि की रचनाओं को वो संगीत के साथ अपनी सुरीली आवाज़ में गाती हैं. पता: 1501-2-ए, राजयोग Chs न्यू म्हाडा अंधेरी वेस्ट मुंबई महाराष्ट्र. मो.: 9971600866. ई-मेल: chinmayitripathi@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp