कल्याणी फगरे

जन्म: 22 दिसंबर, स्थान: भोपाल. माता: श्रीमती लता फगरे, पिता: श्री अजय फगरे. जीवन साथी: श्री अमेय वायंगणकर. शिक्षा: एम.ए. संस्कृत (आचार्य). व्यवसाय: नृत्यांगना (ओडिसी), कलाकार/सचिव- ऊर्ध्वं (सेंटर फॉर क्लासिकल आर्ट्स). रियर यात्रा: 5 वर्ष की आयु से अपनी गुरु व चाची, ओडिसी की  वरिष्ठ नृत्यांगना, श्रीमती बिन्दु जुनेजा के सानिध्य में ओडिसी नृत्य की शिक्षा प्रारम्भ की. 9 वर्ष की आयु में पहली प्रस्तुति, तत्पश्चात देश-विदेश के अनेक मंचों पर प्रस्तुतियां दी हैं, वर्तमान में अपनी गुरु द्वारा संस्थापित संस्था ऊर्ध्वं में सचिव के पद पर कार्यरत हैं साथ ही भोपाल में ओडिसी नृत्य का प्रशिक्षण भी दे रही हैं. उपलब्धियां/पुरस्कार: केन्द्रीय सरकार से ओडिसी नृत्य में जूनियर व सीनियर छात्रवृत्ति, वर्ष 2010 में बिन्दु जी के साथ उनके निर्देशन में, राष्ट्रपति भवन, नई दिल्ली में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति श्री बराक ओबामा के समक्ष प्रस्तुति, भूटान के राजा के विवाहोपलक्ष में भारतीय दूतावास द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बिन्दु जी के साथ प्रस्तुति. विदेश यात्रा: आईसीसीआर टूर श्रीलंका (2007), भूटान. रुचियां: संगीत, थियेटर, वाचन, फिलॉसफी. अन्य जानकारी: श्री मार्गी विजय कुमार, कथकली के प्रख्यात गुरु से कथकली अभिनय का प्रशिक्षण व उनके साथ 2015-2016 में थिरुवनन्तपुरम व भोपाल में प्रस्तुति का अवसर. पता: ई-7/18, चार इमली, सीबीआई ऑफिस के पास, भोपाल -16. ई-मेल: kalyaniphagre@gmail.com. वेब: www.urdhvam.co

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp