कमल चंद्रा

जन्म: 15 अक्टूबर, स्थान: ग्वालियर. माता: स्व.श्रीमती दुर्गा देवी, पिता: स्व. श्री शंकरलाल. जीवन साथी: श्री जगदीश चंद्र. संतान: पुत्र -01, पुत्री -02. शिक्षा: स्नातकोत्तर (समाजशास्त्र/हिंदी साहित्य/राजनीति शास्त्र / बैचलर ऑफ़ एजुकेशन), डिप्लोमा –पत्रकारिता, पत्रिका संचालन, लेखन. व्यवसाय: शिक्षण कार्य, स्वतंत्र लेखन. करियर यात्रा: वर्ष 1986 से 1988 तक आई.टी.बी.पी. पब्लिक स्कूल, करैरा में शिक्षक, वर्ष 2007 से 2009 तक निराश्रित बाल आश्रम झाबुआ में स्कूल प्रभारी, आश्रम की उपाध्यक्ष एवं अध्यापन कार्य. वर्ष 2010 से 2012 तक रॉयल सीनियर सेकेंडरी स्कूल, जबलपुर में हिंदी विषय की प्राध्यापक. वर्तमान में पूर्ण रूप से लेखन कार्य में संलग्न. उपलब्धियां/पुरस्कार: आकाशवाणी, ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल से 2 सौ से अधिक वार्ताएं, समूह चर्चाएं आदि कार्यक्रमों का संचालन, 3 सौ से अधिक लेख, कहानी, कविता, समीक्षा, बाल कहानी का देश- प्रदेश की प्रतिष्ठित समाचार पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशन, सम्पादन – सह सम्पादक -मी एंड माय अर्थ (पर्यावरण पत्रिका), सम्पादक -स्मारिका वनश्री, ज्वेल्स ऑफ़ वनश्री. वर्ष 1992 में जबलपुर संभाग की 15 प्रतिष्ठित महिलाओं में 7वां स्थान प्राप्त. कोरोना बनाम कर्मठता पर प्रथम पुरस्कार, आरम्भ उद्घोष चैरिटेबल फाउंडेशन के संकलन में प्रकाशित कविताओं के लिए सम्मान पत्र. केबी  राइटर में प्रकाशित कविता के लिए सम्मान पत्र. विदेश यात्रा: अमेरिका, लंदन. रुचियां: लेखन, वार्ताएं, समूह चर्चाएं,  अच्छा साहित्य पढ़ना, बागवानी. अन्य जानकारी:  कोरोना काल के साझा संकलन में प्रकाशित लेख, उपाध्यक्ष -राष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक काव्य मंच, म. प्र. इकाई. पता: 277, रोहित नगर, फेज-1, ई-8  एक्सटेंशन, बावड़ियाकलां, भोपाल -39. ई-मेल: kjc158.jc1@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp