इंदु श्रीवास्तव

जन्म: 01 अगस्त, स्थान: नागौद (सतना).  माता: श्रीमती सरोज श्रीवास्तव, पिता: श्री राम प्रसाद श्रीवास्तव. जीवन साथी: श्री उमेश श्रीवास्तव. संतान: पुत्र -01, पुत्री -01. शिक्षा: एम.ए. (राजनीति विज्ञान), आयुर्वेद रत्न.  व्यवसाय: कृषि. करियर यात्रा: आकाशवाणी,  दूरदर्शन व् राष्ट्रीय स्तर के मंचों पर काव्य पाठ, 25 साल से समकालीन गज़ल पर सतत कार्य. पहल, हंस, साक्षात्कार, बया, वीणा वागर्थ आदि साहित्यिक पत्रिकाओं में रचनाएं प्रकाशित. अबू धाबी की हिंदी पत्रिका ‘निकट’ में भी गज़लों का प्रकाशन साथ ही आलोचनाएं, संस्मरण, स्मृति लेखन जारी. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रकाशन- तीन गज़ल संग्रह- “आशियाने की बातें” (2008), “उडऩा बेआवाज परिन्दे” (2012) तथा  “बारिश में जल रहे हैं खेत” (2017), गीत संग्रह- “भोर पनिहारन” (अप्रकाशित), आठ गज़लों का एल्बम- ‘बादलों के रंग’. सम्मान- रज़ा सम्मान, स्पेनिन साहित्य गौरव सम्मान (झारखण्ड), सुधेश सम्मान. रुचियां: संगीत, चित्रकला. अन्य जानकारी: हिंदी की चर्चित मासिक पत्रिका “शब्द संगत” में कुछ वर्षों तक संपादन. पता: 38, नालंदा विहार, कचनार सिटी, जबलपुर -02. ई-मेल: indu.poetess@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp