अर्पणा बिश्नोई

जन्म: 7 मई, स्थान: सोनखेड़ी. माता: श्रीमती गंगा बिश्नोई, पिता: श्री रमाशंकर बिश्नोई. शिक्षा: बी.काम., डिप्लोमा इन कोचिंग रेस्टलिंग (एनएसएनआईएस). व्यवसाय: रेलवे (हेड टी.सी.). करियर यात्रा: इनके चाचा कृपा शंकर बिश्नोई (अन्तर्राष्ट्रीय पहलवान) ने अर्पणा को कुश्ती खेलने के लिए प्रेरित किया. चाचा और इनके कोच कृपा शंकर ने भतीजी के लिए छत पर ही अखाड़ा बनाकर अभ्यास करवाया और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की पहलवान बनाने में कामयाब रहे. 15 वर्ष की उम्र से कुश्ती लड़ना प्रारम्भ किया. मल्हार आश्रम के साईं केंद्र में वेदप्रकाश जी और वीरेंद्र निचित से भी पहलवानी के दांवपेंच सीखे. चाचा से तकनीकी जानकारी और पहलवानी की बारीकियां सीखने को मिलती रही, नतीजा 2011 में करियर के पहले राष्ट्रीय पदक के रूप में मिला, जब अर्पणा ने कन्याकुमारी में राष्ट्रीय कैडेट चैम्पियनशिप में म.प्र. को कांस्य पदक दिलाया. 2013 में कोलकाता में राष्ट्रीय सीनियर चैम्पियनशिप में म.प्र. के लिए स्वर्ण पदक हासिल किया. 2014 (गौंडा उ.प्र.) में और 2015 (नई दिल्ली) में राष्ट्रीय सीनियर चैम्पियनशिप में रजत पदक अपने नाम किया. अपर्णा कुश्ती में भारतीय रेलवे टीम का प्रतिनिधित्व करती हैं और कई राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं (स्कूल नेशनल चैम्पियनशिप सांगली महाराष्ट्र 2007- पांचवा स्थान, स्कूल नेशनल चैम्पियनशिप सिंधुदुर्ग महाराष्ट्र 2009- कांस्य पदक, सब-जूनियर चैम्पियनशिप 2011 कांस्य पदक, चंदगी राम गोल्ड कप दिल्ली सिल्वर पदक, अखिल भारतीय चम्बल कुश्ती दंगल कोटा राजस्थान 2012 कांस्य पदक आदि) में विजेता रह चुकी है. 2016 में सिंगापुर में राष्ट्रकुल चैम्पियनशिप में अर्पणा को रजत पदक मिला. इसी प्रदर्शन की आधार पर अपर्णा को रेलवे में नौकरी मिली और भुसावल (मध्य रेलवे) में सीनियर टी सी पद पर कार्य करते हुए वे रेलवे टीम की कोच बनी. 2018-19 में एनआईएस कोच की परीक्षा उच्च अंकों के साथ पास की. अब अर्पणा महिला पहलवानों को तकनीकि रूप से तैयार करने के लिए आतुर हैं. उपलब्धियां/पुरस्कार: सीनियर स्पर्धा- नेशनल चैम्पियनशिप 4 मेडल. सीनियर-जूनियर स्पर्धा- एक मेडल. कैडिट मेडल ऑल इंडिया यूनिवर्सिटी मेडलिस्ट. कॉमनवेल्थ चैम्पियनशिप 2016 में इंटरनेशल सिल्वर मेडल सहित अनेक पदक प्राप्त. एनआईएस कोच बनने वाली रेलवे की पहली पहिला पहलवान. विदेश यात्रा: कॉमनवेल्थ चैम्पियनशिप 2016 सिंगापुर. बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान की फिल्म’दंगल’ में महिला पहलवान की भूमिका निभाई और फिल्म अभिनेत्रियों को पहलवानी के गुर भी सिखाए. रुचियां: स्पोर्ट्स, म्यूजिक, यात्रा करना, किताबें पढ़ना, गरीबों की मदद करना आदि. अन्य जानकारी: सिंगापुर में आयोजित राष्ट्र मंडल कुश्ती  चैम्पियनशिप 2016 में भारत की ओर से रजत पदक प्राप्त करने वाली मध्यप्रदेश की पहली महिला पहलवान. लोकसभा चुनाव 2019 में निर्वाचन आयोग द्वारा चलाये गए मतदाता जागरुकता अभियान में सक्रिय भूमिका निभाई. समाज ने इनके पहलवान बनने का बहुत विरोध किया था, लेकिन उनका प्रयास है कि समाज सहित देश की लड़कियां कुश्ती के मैदान में उतरें और देश का नाम रोशन करें. पता: 04, सोनखेड़ी, तहसील हरसूद, जिला खंडवा -16. ई-मेल: barpana29@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp