अर्चना मिश्रा

जन्म: 5 जुलाई, स्थान: प्रयागराज. माता: श्रीमती नयनतारा पांडेय, पिता: स्व. श्री शिव प्रसाद पांडेय. जीवन साथी: स्व. श्री हरि मित्र मिश्रा. संतान: पुत्री -01. शिक्षा: बीएससी. करियर यात्रा: भारतीय स्टेट बैंक में 33 वर्षों तक कार्यरत फिर सेवानिवृति/स्वतंत्र लेखन. उपलब्धियां/सम्मान: प्रकाशन- पहला लघुकथा संग्रह ‘फूलों की घाटी’2021 में प्रकाशित, साझा संकलन – ‘सीप में मोती’ और बालमन की कहानियां. कथाबिम्ब, दोआबा, किस्सा कोताह, विभोम स्वर, वामा, मनोरमा, प्रवाह, आकांक्षा, दृष्टि, लघुकथा कलश, अविराम साहित्यिकी, साहित्य समीर, शुभ तारिका सहित विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं और समाचार पत्रों में कहानियां, लघु कथाएं और कविताएं प्रकाशित. भोपाल रत्न सम्मान (2020), जैमिनी अकादमी, पानीपत द्वारा पारस दासोत स्मृति लघुकथा सम्मान, राजभाषा मास में लघुकथा प्रतियोगिता में लघुकथा ‘माँ’ पुरस्कृत, शुभ पत्रिका में प्रकाशित लघुकथा  ‘चोबदार’ पाठकों की पहली पसंद होने पर पुरस्कृत, बैंक में लेखन में स्टेट बैंक के अलावा दूसरे बैंकों से भी अनेक पुरस्कार प्राप्त. विदेश यात्रा: नेपाल, भूटान, सिक्किम, सिंगापुर, मलेशिया, थाईलैंड. रुचियां: संगीत, लेखन और नई-नई जगह घूमना. अन्य जानकारी: विधाएं – कहानियां, कविता समीक्षा और लघुकथाएं. कटघरे में खड़ा रिश्ता (कहानी) और लघुकथा ‘निपूती’ का मराठी में अनुवाद, जो मराठी पत्रिका के दीपावली विशेषांक एवं लघुकथा संग्रह में प्रकाशित. पता: बी- 3/401, फॉर्च्यून सिग्नेचर, बावड़िया कला, भोपाल -26. ई-मेल: archanamishra0507.am@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp