अंजलि खेर

जन्म: 16 नवंबर, स्थान: जबलपुर. माता: श्रीमती आशा कालकर, पिता: श्री एस.आर. कालकर. जीवन साथी: श्री अजय खेर. संतान: पुत्री -02. शिक्षा: एम.कॉम. व्यवसाय: भारतीय जीवन बीमा निगम में कार्यरत. करियर यात्रा: लगभग 28 साल पहले पढ़ाई के साथ-साथ भारतीय जीवन बीमा निगम में बतौर टाइपिस्ट भोपाल से कार्य की शुरुआत. शादी के बाद सतना में  पर्सनल एंड इंडस्ट्रियल रिलेशन डिपार्टमेंट  के साथ हिन्दी विभाग में -‘राजभाषा सहायक’ पद पर रहते हुए संभागीय कार्यालय की ‘राजभाषा पत्रिका’ के प्रकाशन का काम भी संभाला. पिछले 11 वर्षों से भोपाल में बीमा पॉलिसी होल्डर्स और बीमा एजेंट्स ऑफिस (जीटीबी कॉम्प्लेक्स) में सेवाएं जारी. उपलब्धियां/पुरस्कार: प्रकाशन– ‘शतरंज और जीवन प्रबंधन’ (2017). 30 से अधिक कहानियां यू-ट्यूब पर प्रसारित, ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ पर आधारित एक कहानी बिग एफ.एम पर ‘हीरो ख्वाबों का सफ़र’ कॉन्टेक्ट में द्वितीय स्थान पर रही. एक वृद्ध आधारित कहानी अखिल भारतीय स्तर पर द्वितीय स्थान पर रही. अमेरिका के पिट्सबर्ग से प्रकाशित अंतरराष्ट्रीय पत्रिका ‘सेतु’ में तीन लेख प्रकाशित. सम्मान- मत प्रेरणा सम्मान (2018), श्रेष्ठ युवा रचनाकार सम्मान (2018), अंतरराष्ट्रीय अधिवेशन दिल्ली में विमोचित पुस्तक में कहानी चयनित, मगसम समूह के सौजन्य से – शतकवीर सम्मान (2019), त्रिकर्षि संस्था द्वारा प्रेमाभिव्यक्ति सम्मान (2020), इंकलाब साहित्यकार रत्न (2020), प्रखर साहित्य सम्मान (2020), इंकलाब शृंगार सम्मान (2020), राष्ट्र गौरव सम्मान (2020), राष्ट्र मार्गदर्शक सम्मान (2020), इंकलाब काव्य शिरोमणि सम्मान (2020), सृष्टि रक्षक सम्मान (2020), पितृभक्त सम्मान (2020), पुस्तक शतरंज और जीवन प्रबंधन को प्रभा खेतान पुरस्कार, स्वच्छ भारत निर्माण परिषद द्वारा सेवा योद्धा सम्मान (2020), ICTM सोशल ग्रुप द्वारा ‘योद्धा रत्न अवार्ड’, सृजनांश प्रकाशन (दुमका झारखंड)  द्वारा सृजन श्री सम्मान, ज्ञानोदय साहित्य संस्था-कर्नाटक द्वारा ज्ञानोदय प्रतिभा सम्मान (2020), प्रणेता साहित्य संस्था द्वारा प्रणेता काव्य साधक सम्मान, इंकलाब पत्रिका द्वारा हिंदी काव्य रत्न सम्मान (2020), साहित्यकुंज औरंगाबाद द्वारा मुंशी प्रेमचंद सम्मान (2020) सहित अनेक सम्मान तथा पुरस्कार प्राप्त. 20 साझा संकलन. माँ की पाती बेटी के नाम, पिता की पाती बच्चे के नाम और शिष्य की पाती गुरु के नाम अखिल भारतीय स्तर पर चयनित. पन्द्रह वर्ष पहले मातृदिवस पर आधारित रचना के मधुरिमा में प्रकाशन के पश्चात विविध पत्रिकाओं में लेख सतत प्रकाशित, आकाशवाणी भोपाल पर चिंतन व महिला सभा में लेख प्रसारित. जीवन बीमा निगम की पत्रिकाओं में लेख, कहानी प्रकाशित, पत्र लेखन प्रतियोगिता में चयनित पत्र साझा संकलन में प्रकाशित. 35 से अधिक कहानियां यूट्यूब पर प्रसारित. रुचियां: लेखन-वाचन, संगीत सुनना, गार्डनिंग, गृह सज्जा. अन्य जानकारी: अंगदान आधारित कहानी सुनकर कई श्रोताओं ने अंगदान हेतु रजिस्ट्रेशन किया और एक कहानी से प्रेरित होकर बेटे की मृत्यु के पश्चात सास ससुर ने बहू का कन्यादान किया. पता: पी-68, सिंगापुर विला, एल.एन. मेडिकल कॉलेज के सामने, बंजारी, कोलार रोड,  भोपाल –42.  ई-मेल: anjalikher73@gmail.com

Facebook

Twitter

Instagram

Whatsapp